Breaking News
.

पुणे की समाजसेविका हेमलता महस्के को राष्ट्रीय स्त्री शक्ति सम्मान मिला …

पुणे की समाज सेविका और लेखिका हेमलता महस्के को नई दिल्ली के हिंदी भवन में 21वा राष्ट्रीय स्त्री शक्ति अवार्ड से सम्मानित किया गया। उनको यह सम्मान गंतव्य संस्थान, नई दिल्ली की ओर से दिया गया।

उल्लेखनीय है कि इस बार देश भर से 445 प्रविष्टि प्राप्त हुई जिनमे से 31 महिलाओं व 5 संगठनों को सम्मानित किया गया।

हेमलता महस्के को यह सम्मान पिछले तीन सालों में मालिन बस्तियों की महिलाओं और बच्चों के कल्याण के लिए किए गए कार्यों के लिए दिया गया है। हेमलता महस्के ने अभी हाल में महिला सशक्तिकरण के लिए “महिलाएं क्यों करती हैं आत्महत्या “और “बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ” पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन पुणे में किया। उन्होंने लॉकडॉन के दौरान सैकड़ों परिवारों के लिए भोजन और अन्य जरूरत के सामान जुटाए और उन्हें उनके बीच वितरित भी किया।

इसके अलावा उन्होंने बच्चों के लिए स्कूल बैग कॉपियां जुराबें, टी शर्ट और महिलाओं के बीच साड़ियों और कंबलों का भी वितरण किया। यह सब कुछ उन्होंने पूरी कुशलता से दुनिया भर में फैले मित्रों से मदद लेकर किया। हेमलता महस्के लेखिका भी हैं और उन्होंने पंचायती राज, शिक्षा, महिला, बच्चे, बुजुर्गों, श्रमिक, पर्यावरण के साथ पशुओं के प्रति क्रूरता के खिलाफ लगातार लिखती रही है।

इनके आलेख और रिपोर्ट देश भर में विभिन्न राष्ट्रीय स्तर की पत्र पत्रिकाओं में नियमित तौर पर प्रकाशित भी होते हैं। सफल महिलाओं के जीवन संघर्षों पर इनके लिखे लेख काफी चर्चित रहे।

हेमलता ने लोगों में पशुओं के प्रति प्रेम बढ़ाने के लिए विभिन्न अभियानों का भी संचालन किया है। सार्वजनिक क्षेत्र में सक्रियता की वजह से तिलका मांझी राष्ट्रीय सम्मान,विष्णु प्रभाकर राष्ट्रीय सम्मान,आचार्य लक्ष्मीकांत मिश्र राष्ट्रीय सम्मान,नारी शक्ति सम्मान के साथ विभिन्न संस्थाओं और संगठनों से प्रशस्ति और प्रोत्साहन पत्र भी मिले हैं।

साधारण रहन सहन वाली हेमलता महस्के एकदम साधारण परिवार की है लेकिन अपने नेक इरादों और बुलंद हौसले की वजह से वह अब पहले की तरह घर की चहारदीवारी तक सीमित नहीं रह गई है। वह अपनी जैसी लाखों महिलाओं के लिए रोल मॉडल बन गई हैं।

गंतव्य संस्थान के तत्वाधान में 21वां राष्ट्रीय स्त्री शक्ति सम्मान समारोह दिनांक 15 मई 2022 को आयोजित किया गया।

इस स्त्री शक्ति अवार्ड में जिन महिलाओं ने समाजिक व राजनीतिक अन्य सेवा के क्षेत्र में, शिक्षा सेवा,पी एच डी,एम बी ए, साहित्य लेखन व काव्य एवं पत्रकारिता के क्षेत्र में, कला के क्षेत्र में (संगीत, चित्र कला, नृत्य वाद यन्त्र आदि कला) न्यायिक सेवा, विधी, रक्षा सेवा, चिकित्सा सेवा, अभियांत्रिकी, कृषि सेवा, बैंक- बीमा, राष्ट्रीय खेल के क्षेत्र में व व्यवसायिक सेवा इत्यादि के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किया है उन्हें सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में सम्मानित अतिथियों में मंगतराम सिंघल – पूर्व मंत्री दिल्ली सरकार डॉ. अलका गुर्जर- राष्ट्रीय सचिव भाजपा डॉ. रिद्धिमा सेठ – एसीपी दिल्ली पुलिस श्रीमती सरोज तुली – शिक्षिका डॉ. अर्पण जैन- अध्यक्ष राष्ट्रभाषा उन्नयन संस्थान श्रीमती रीमा त्यागी- महाऋषि दधीचि देहदान संस्थान डॉ.प्रबोध राज चन्दोल- सचिव पेड़ पंचायत अमित गुप्ता – सीईओ, जेम माइंस और अध्यक्षता की श्रीमती अर्चना त्यागी – डायरेक्टर गंतव्य संस्थान ने व मंच संचालन आशीष श्रीवास्तव ने किया।

स्वागत उद्बोधन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अरविन्द कुमार त्यागी ने दिया व रिपोर्ट सुश्री चारु त्यागी ने प्रस्तुत की सम्मान अर्पण में बादल चौधरी, चंद्रकांता चन्द्रेश, भावना शर्मा, सुकृती त्यागी, तन्नु त्यागी, संगीता व हीरालाल मीणा ने की।

कथक गुरु सुश्री दुर्गेश्वरी सिंह की 6 शिष्याओं ने कथक नृत्य प्रस्तुत किया साथ ही प्रख्यात गीतकार इंद्रजीत सुकुमार व ग़ज़लकारा पूनम माटिया ने भी प्रस्तुति दी साथ ही समय -समय पर संगठन की तन, मन, धन से सहयोग करने वाले 41 सहयोगियों को भी सम्मानित किया गया इस कार्यक्रम में सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। हिन्दुस्तान प्राइम टाइम व अन्य कई मीडिया चेनल ने इस कार्यक्रम की कवरेज की।

 

 

©हेमलता महस्के, पुणे, महाराष्ट्र                                  

error: Content is protected !!