Breaking News
.

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज गए सरकार के मंत्री नवाब मलिक ….

मुंबई। एनसीपी के प्रमुख शरद पवार ने शनिवार को कहा कि मलिक की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित है और मुसलमान होने के कारण उनका नाम अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से जोड़ा जा रहा है। पवार ने मलिक के इस्तीफे की विपक्ष की मांग भी खारिज कर दी। राकांपा प्रमुख ने कहा, ”मलिक की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित है। उनका नाम दाऊद इब्राहिम से इसलिए जोड़ा जा रहा है क्योंकि वह मुसलमान हैं। मलिक और उनके परिवार के सदस्यों को जानबूझ कर परेशान किया जा रहा है, लेकिन हम इसके खिलाफ लड़ेंगे।” बता दें कि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के पक्ष में महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े (मुसलमान) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। 

दाऊद इब्राहिम मनी लॉन्ड्रिंग केस में महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक को मुंबई की स्पेशल PMLA कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मलिक को 7 मार्च तक हिरासत में भेजा दिया था। ईडी ने मलिक को भगोड़े अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और उसके सहयोगियों से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 23 फरवरी गिरफ्तार किया था।

गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के 62 वर्षीय मंत्री और NCP के प्रवक्ता मलिक को 8 दिन की ईडी हिरासत में भेजा गया था। हालांकि बीते गुरुवार को उनकी हिरासत को बढ़ाकर 7 मार्च कर दिया गया। ईडी के अधिकारियों ने कहा था कि मलिक के 1993 के मुंबई बम विस्फोटों से जुड़े लोगों से संबंध थे। एजेंसी का कहना है कि यह जांच, भगोड़े गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम, उसके सहयोगियों और मुंबई अंडरवर्ल्ड की गतिविधियों से संबंधित है।

राज्य में विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी द्वारा मलिक का इस्तीफा मांगे जाने के प्रश्न पर पवार ने कहा कि मलिक और केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे पर अलग-अलग मानदंड अपनाए जा रहे हैं। गौरतलब है कि राणे भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं। पवार ने कहा, ”मुझे याद नहीं आता कि हमारे (कांग्रेस) पूर्व पार्टी कार्यकर्ता नारायण राणे को हाल में गिरफ्तारी के बाद इस्तीफा देना पड़ा हो। प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) कल पुणे आ रहे हैं। वह इस पर ज्यादा जानकारी दे सकते हैं। राणे के लिए अलग मानदंड और मलिक के लिए अलग मानदंड दिखाता है कि यह राजनीति से प्रेरित है।”

error: Content is protected !!