देश

सेना भर्ती से ऊबे युवा: बोले- अब नहीं करेंगे अग्निवीर भर्ती में आवेदन, चाहे करनी पड़े दूसरी नौकरी …

रोहतक । हरियाणा के युवा अब सेना में अग्निवीर भर्ती से ऊबने लगे हैं। जहां सेना भर्ती के लिए युवाओं में खासा क्रेज होता था, वो अब देखने को नहीं मिल रहा। बेशक पहले के मुकाबले रेस के दौरान अधिक युवकों को पकड़ा जा रहा है। इसके बाद भी युवा आर्मी में भर्ती होने से दूरी बना रहे हैं। जिसके कारण सेना में जहां हरियाणा के युवाओं का अलग ही स्थान होता था, वो अब छिनता दिखाई दे रहा है।

झज्जर के गांव सासरौली निवासी साहिल ने बताया कि सुबह ढाई बजे घर से चला था और साढ़े चार बजे रोहतक पहुंचा था। वहीं करीब साढ़े 5 बजे एंट्री हुई थी। चौथे बैच में नंबर था, शुरुआत में 5 मिनट 45 सेकेंड समय देने की बात कही थी, लेकिन उनके बैच में 5 मिनट 5 सेकेंड का समय दिया। केवल 48 बच्चे ही पकड़ा।

साहिल ने कहा कि उसका 49वां नंबर था। पहले वाले सालों के मुकाबले समय ठीक था। भर्ती देरी से करने के लिए सरकार जिम्मेदार है। वहीं इस भर्ती के बाद वह आगे सेना भर्ती के लिए आवेदन नहीं करेगा। आर्मी को छोड़कर अन्य नौकरी की तैयारी करेंगे और प्रयास करेंगे, लेकिन इस भर्ती के बाद उन्होंने सेना भर्ती नहीं देखने का निर्णय लिया है।

झज्जर के गांव अमादल शाहपुर निवासी यशपाल ने बताया कि उसने सुबह करीब 6 बजे प्रवेश किया था। हाईट में निकाल रहे हैं। कई सालों से भर्ती नहीं हो रही थी। घर पर जब मापी तो ऊंचाई 170 सेंटीमटर पूरी थी और यहां पर कम दर्शाकर भार निकाल दिया। दौड़ के लिए पूरा समय भी नहीं दिया। यह पहली भर्ती थी। उन्होंने कहा कि इस तरह निकालने के कारण अब वह आर्मी की तैयारी नहीं करेंगे। इसके अलावा कोई अन्य नौकरी के लिए प्रयास करेंगे।

खड़कट निवासी रवि ने बताया कि उसने हिसार भर्ती में तीन बार रेस पूरी की थी। भर्ती के नाम पर परेशान किया है, जिसके कारण कभी अकेडमी में गए तो कभी घर पर रहे। फौज में लगने का सपना था, लेकिन अब आस टूट गई। अब सपना टूट गया है। पहले चाहे 20 बच्चों को पकड़ते थे तो 12-15 बच्चे नौकरी लग जाते थे। लेकिन अब 60-80 बच्चों को पकड़कर आखिर में केवल 10-15 बच्चों को ही नौकरी देंगे। जिससे बच्चों का मजाक बनाया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button