मध्य प्रदेश

बड़वानी से मिला हथियारों का जखीरा, 51 देशी कट्टे और पिस्टल बरामद, सिद्धू मूसेवाला को मारने वाले गिरोह का भी यहां से है कन्केशन …

भोपाल/बड़वानी। मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जंगल से अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया है. इस जंगल से वह गिरोह भी नाता रखता है, जिसने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या की. पुलिस ने यहां पहाड़ों के बीच हथियारों की अवैध फैक्ट्री चला रहे 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे 51 देशी कट्टे, देशी पिस्टल, अर्ध निर्मित देशी कट्टा-पिस्टल आदि बरामद किए. बाजार में इन हथियारों की कीमत 10 लाख 44 हजार रुपये है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

मामले का खुलासा करते हुए एसपी दीपक कुमार शुक्ला ने बताया कि बड़वानी के जंगल पुलिस ने हथियारों का जबरदस्त जखीरा बरामद किया है. इस जंगल से सिद्धू मूसेवाला को मारने वाले गिरोह का भी कन्केशन है. यह गिरोह इसी जगह से हथियार खरीदता था. गिरफ्तार किए गए आरोपियों में एक आरोपी 25 हजार रुपए का आरोपी है। चौंकाने वाली बात यह है कि यह अवैध हथियारों की फैक्ट्री उमर्टी के आसपास के जंगलों में पहाड़ों के बीच खाई में चल रही थी. गौरतलब है कि बड़वानी जिले का उमर्टी पूरे देश में अवैध हथियारों के निर्माण और खरीद-फरोख्त के लिए कुख्यात है. यही कारण है कि कई राज्यों में इस इलाके के अवैध हथियार बनाने वालों के खिलाफ मामले दर्ज हैं. हाल ही में सिद्धू मुसेवाला हत्याकांड को अंजाम देने वाले गिरोह के तार भी यहां से जुड़े पाए गए थे. इसी बात को लेकर महाराष्ट्र पुलिस ने भी यहां दबिश दी थी. इसके अलावा दिल्ली, पंजाब और हरियाणा की पुलिस भी यहां के बदमाशों को तलाश कर रही है.

लाखों की कीमत के अवैध हथियार मिले

बड़वानी पुलिस ने इस मामले कि गंभीरता को देखते हुए कड़ा एक्शन लिया. पुलिस अधिकारियों ने करीब 100 पुलिसकर्मियों के फोर्स के साथ उमर्टी के जंगलों में दबिश दी. पुलिस जैसे-जैसे जंगल के अंदर गई, वैसे-वैसे उसे अवैध हथियार बनने के सबूत मिलने लगे. पुलिस फोर्स को जैसे ही हथियारों की अवैध फैक्ट्री मिली वैसे ही उसने धावा बोल दिया और 3 आरोपियों को दबोच लिया. पुलिस ने यहां से 51 देशी कट्टे, देशी पिस्टल, अर्ध निर्मित देशी कट्टा-पिस्टल बरामद किए. इन हथियारों की कीमत 10 लाख 44 हजार रुपये है. पुलिस ने यहां से इन हथियारों में इस्तेमाल होने वाली सामग्री भी जब्त कर ली है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम बलजीतसिंग पिता ख्यालसिंग सिकलीगर निवासी सेंधवा, राजेंद्र सिंह पिता प्रितमसिंह बरनाला निवासी उमर्टी और परबतसिंग पिता धरमसिंग सिकलीगर निवासी ग्राम उमर्टी थाना वरला हैं.

पुरस्कृत होगी पुलिस टीम

एसपी शुक्ला ने कहा कि अवैध हथियार के सौदागरों के विरूद्ध इस प्रकार की प्रभावी कार्रवाई जिले में जारी रहेगी। साथ ही बड़ी संख्या में अवैध हथियार पकडऩे वाली पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा भी की। कार्रवाई में अजाक डीएसपी कुंदन मंडलोई, राजपुर एसडीओपी रोहित अलावा सहित सेंधवा ग्रामीण, पलसूद, राजपुर, नागलवाड़ी, वरला, सेंधवा शहर का पुलिस स्टॉफ शामिल था। इसमें 100 से अधिक पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की जिले में संभवत: पहली बार संयुक्त कार्रवाई हुई हैं।

 

Related Articles

Back to top button