इमारती लकड़ियों की धड़ल्ले से कटाई की जा रही है, वन विभाग को कोई खबर नहीं…

मुंगेली (अजीत यादव) । लोरमी में लकड़ी तस्करों के हौसले इतने बुलंद है कि इस भरे मानसून के मौसम में भी इमारती लकडियों की तस्करी धड़ल्ले से की जा रही है। लकड़ी तस्करों के द्वारा इमारती लकड़ियों की तस्करी करने का अनोखा रास्ता निकाला गया है, जिसमें वे मनियारी नदी की सहायता लेकर लकड़ियों की तस्करी कर रहे हैं।

आपको बता दें कि लोरमी विकासखण्ड के खुड़िया वन परिक्षेत्र के जंगलों में इमारती लकड़ियों की धड़ल्ले से कटाई कर उसकी तस्करी की जा रही है जिसकी कोई खबर वन विभाग को नहीं लग पाती। यही कारण है कि लकड़ी तस्करों के हौसले बुलंद हैं। वहीं समय-समय पर वन विभाग की टीम के द्वारा तस्करों पर लगाम लगाने के लिए कार्यवाही तो की जाती है लेकिन उसके बाद भी लकड़ी तस्कर इमारती लकड़ियों की तस्करी लगातार कर रहे हैं।

जानकारी के अनुसार कल देर रात खुड़िया वनपरिक्षेत्र के ग्राम चचेड़ी में मनियारी नदी के रास्ते लकड़ियों को पानी में बहा कर ले जाया जा रहा था जिसे गश्त में निकली वन विभाग की टीम ने जप्त किया है। जानकारी के मुताबिक सागौन के गोलों की तस्करी की जा रही थी। वन विभाग की टीम कुल 19 नग लकड़ियों को जब्त कर आगे की कार्रवाई कर रही है। वही अंधेरे का फायदा उठाकर तस्कर मौके से फरार होने में कामयाब हो गए।