मध्य प्रदेश

राहुल गांधी के इंदौर आने पर बम से उड़ाने की धमकी, कमलनाथ के नाम का भी किया जिक्र, मचा हड़कंप

राहुल को बम से उड़ाने की धमकी भरा लेटर यह लेटर इंदौर की एक दुकान पर मिला है

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में राहुल गांधी को बम से उड़ाने की धमकी मिली है, यहां की एक मिठाई की दुकान पर एक धमकी भरा पत्र भेजा गया है। पत्र में राहुल गांधी के अलावा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को भी जान मारने का जिक्र है। धमकी वाले पत्र में सिख दंगों का जिक्र भी किया गया है, यह पत्र मिलने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस और क्राइम ब्रांच जांच शुरू कर पत्र लिखने वाले की तलाश में जुट गईं हैं। वहीं, खुफिया एजेंसियों के भी कान खड़े हो गए हैं और वह भी हरकत में आ गई हैं।
दरअसल, जूनी इंदौर थानांतर्गत एक मिठाई दुकान पर दुकानदार को एक पत्र मिला है। यह पत्र कोरियर से दुकान तक पहुंचाया गया है, जिसमें वर्तमान में भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। गुरुवार यानि कल शाम को यह पत्र मिठाई दुकानदार को मिला है। पत्र लिखने वाले ने राहुल गांधी की यात्रा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी गोली मारने की धमकी दी है। दोनों नेताओं को धमकी भरा पत्र पढ़ने के बाद दुकानदार ने तत्काल पुलिस के पास पहुंचकर सूचना देकर वह पत्र भी सौंपा। पत्र पढ़कर पुलिस भी सकते में आ गई। महकमे में हड़कंप मच गया।
पुलिस और क्राइम ब्रांच जांच में जुटी
पत्र सामने आने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी हरकत में आ गए। पत्र में रतलाम का भी जिक्र किया गया है। मामला सामने आने के बाद जूनी इंदौर पुलिस और क्राइम ब्रांच पत्र छोड़ने वाले की तलाश में जुट गई है, पुलिस ने जूनी इंदौर थाना क्षेत्र में आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की भी बारीकी से जांच शुरू कर दी है। हालांकि पुलिस का कहना है कि यह घटना किसी शरारती तत्वों की भी हो सकती है, लेकिन इस मामले की हर तरह से जांच की जा रही है।
यह है इंदौर में राहुल गांधी का कार्यक्रम
राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा 23 नवंबर को मध्यप्रदेश के बुरहानपुर से एमपी में एंट्री करने वाली है। इस यात्रा का पूरा केंद्र इंदौर रहेगा। ऐसे में यहां कांग्रेस ने तैयारियां भी जोर-शोर से की हैं। बता दें कि राहुल गांधी इंदौर के खालसा स्टेडियम में रात भी रुकेंगे। इंदौर में 28 नवंबर को भारत जोड़ो यात्रा महू दशहरा मैदान ग्राउंड से शुरू होकर एयू सिनेमा (इंदौर) आएगी। यहां से यात्रा चोइथराम अस्पताल के सामने से होते हुए माणिकबाग से कलेक्टर चौराहे पर जाएगी। कलेक्टर चौराहे से कांग्रेस कार्यालय के सामने से होकर गुजरते हुए यात्रा राजबाड़ा पहुंचेगी। यहां पर राहुल गांधी की नुक्कड़ सभा होगी। इसके बाद राहुल गांधी कार से खालसा कॉलेज जाएंगे। यहां पर राहुल गांधी रात रुकेंगे। 29 नवंबर को यात्रा का ब्रेक रहेगा। 30 नवंबर को बड़ा गणपति चौराहे से यात्रा शुरू होगी, जो जिंसी चौराहे से होकर किला मैदान होते हुए मरीमाता चौराहे पहुंचेगी। यहां से यात्रा बाणगंगा रोड पर आगे बढ़ेगी और कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला के घर के सामने से गुजरेगी। यहां से यात्रा आगे बढ़कर अरबिंदो अस्पताल से होते हुए सेंट्रल जेल के सामने रुकेगी। यहां मॉर्निंग ब्रेक होगा। इसके बाद यात्रा यहां से आगे कांग्रेस कार्यालय की ओर बढ़ेगी। कांग्रेस नेता प्रयास कर रहे हैं कि यात्रा जब कांग्रेस कार्यालय से गुजरेगी, तब राहुल गांधी कुछ देर के लिए कांग्रेस कार्यालय में आएं या फिर कार्यालय के बाहर ही कुछ देर के लिए रुक जाएं।


पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा- भाजपा हर हथकंडे अपना रही
राहुल गांधी और उनकी यात्रा को मिली धमकी पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का कहना है कि यात्रा की सुरक्षा राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। इस मामले को लेकर मैं मुख्यमंत्री से मिल चुका हूं। ये पुलिस को देखना है पूरी सुरक्षा पुलिस प्रशासन के हाथ में है। राहुल गांधी की यात्रा की सफलता पर भाजपा बुरी तरह बौखलाई हुई है और वह इसमें व्यवधान खड़ा करने के लिए हर हथकंडे अपना रही है।


पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने इसे विपक्ष का षड्यंत्र बताया
वहीं, उक्त धमकी वाला पत्र सामने आने के बाद पूर्व मंत्री और विधायक जीतू पटवारी ने ट्वीट करते हुए लिखा- ‘देश में नफरत के माहौल को प्यार में परिवर्तित करने के संकल्प के साथ राहुल जी भारत जोड़ो यात्रा पर निकले हैं। जनता द्वारा अभूतपूर्व दुलार विपक्ष को सता रहा है। इसलिए कई प्रकार के षड्यंत्र रचे जा रहे हैं, लेकिन मप्र की जनता को राहुल जी का बेसब्री से इंतजार है।’


कांग्रेस डरने वाली नहीं : पूर्व पीसीसी अध्यक्ष अरुण यादव
इधर, राहुल गांधी को लेकर मिले धमकी वाले पत्र पर पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने भी ट्वीट कर इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि ”राहुल गांधी जी की भारत जोड़ो यात्रा देश की एकता, सद्भावना और भाईचारे को जोड़ने का काम कर रही है और देश को तोड़ने वाली ताकतें धमकी भरे पत्र से माहौल खराब करने की कोशिशें कर रही हैं, मगर कांग्रेस डरने वाली नहीं है। पुलिस प्रशासन धमकी भरे पत्र वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही करे।”

Related Articles

Back to top button