लखनऊ/उत्तरप्रदेश

गाड़ी की कीमत 30 हजार रुपए चालान हुआ 78 हजार रुपए का, बार-बार तोड़ रहे यातायात नियम …

लखनऊ। यातायात के नियमों को तोड़ खुद को सयाना समझने वाले लोगों को सीसीटीवी कैमरे सबक सिखा रहे हैं। पिछले तीन महीने में ऐसे 115 लोग पकड़े गए हैं जिन्होंने खूब ट्रैफिक रुल तोड़े हैं। सीसीटीवी कैमरों से पिछले तीन महीने में इनके वाहनों का 10 से लेकर 39 बार ऑनलाइन चालान हुआ है। किसी के वाहन का 78 हजार रुपए का चालान हुआ है तो किसी का 20 हजार। इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम इनको मैसेज भी भेज रहा है। इसे भी यह नजरअंदाज कर रहे हैं। जल्दी ही इनके घरों में आरसी पहुंचेगी।

अंजुमन सिंध वाल्दा कोठी नंबर-दो जिमखाना क्लब रोड के सुरेश कनौजिया के पास मोटरसाइकिल है। इसका नंबर यूपी 32 एचएल 1922 है। यह कभी लाल बत्ती जम्प करते हैं तो कभी उल्टी साइड चलते हैं। कभी बिना हेलमेट के गाड़ी दौड़ाते हैं तो कभी ज्यादा स्पीड में चलाते हैं। पिछले ढाई महीने में इनकी गाड़ी का 39 बाहर ऑनलाइन चालान हुआ है। इनका कुल 78 हजार रुपए का चालान हो चुका है। लगातार इन्हें स्मार्ट सिटी के आईटीएमएस सेंटर से मैसेज भेजा जा रहा है।

फ्लैट नंबर 110 स्टेशन रोड कीर्ति शिखर अपार्टमेंट हुसैनगंज के रहने वाले शमशाद अहमद की एक्टिवा यूपी 32एमए 3274 का 28 बार चालान हुआ है। इनके मोबाइल पर भी मैसेज जा रहा है। बातचीत में उन्होंने कहा भी कि मैसेज आता है लेकिन उन्होंने इस पर ध्यान नहीं दिया। इनकी गाड़ी की कीमत लगभग ₹35000 है लेकिन चालान ₹58000 का हो चुका है। इसी तरह 27 ब्रह्म नगर सीतापुर रोड डालीगंज के रहने वाले हर्षित अग्रवाल भी खूब ट्रैफिक रूल तोड़ रहे हैं। इनकी वैगनआर कार यूपी 32 एमएस 6178 का अब तक 54000 रुपए का चालान हो चुका है। 27 बार यह यातायात के नियमों का उल्लंघन करते हुए कैमरे में कैद हुए हैं। इन्होंने भी बताया कि मैसेज तो आता है लेकिन ध्यान नहीं दिया। 355/154 मुराव टोला आलमनगर के रूबी राय की एक्टिवा का 26 बार चालान हुआ है। उन्होंने कहा कि वह अपनी एक्टिवा ज्यादा निकालते ही नहीं। वह दुबग्गा के पास चाय का ठेला लगाते हैं। लेकिन इनकी एक्टिवा यूपी 32 एलपी 7223 के चालान की फोटो आईटीएमएस ने अपलोड कर रखी है। इनका ₹49500 का चालान हुआ है। जबकि इनकी गाड़ी की कीमत बमुश्किल 25000 है। खलीलुर रहमान जिनकी गाड़ी का नंबर यूपी 32 जेएल 5503 है। यह 536 क/ 376 मक्का गंज सीतापुर रोड के रहने वाले हैं इनकी गाड़ी का 25 बार चालान हुआ है। अब तक 50200 का जुर्माना भी लग चुका है। लेकिन यह भी चालान से बेफिक्र हैं और लगातार ट्रैफिक नियमों को तोड़ रहे हैं।

डालीगंज के पंकज तिवारी की गाड़ी यूपी 32 ईएम 2810 का 24 बार, जेसी बोस मार्ग लालबाग के राम जी की गाड़ी यूपी32 डीक्यू  6340 का 21 बार , सरसावा अर्जुनगंज की अर्चना कश्यप की गाड़ी यूपी 32 एलटी 6325 का 20 बार चालान हो चुका है। इस तरह कुल 115 लोग ऐसे हैं तीन महीने में जिनका चालान 39 से लेकर 10 बार हो चुका है।

आईटीएमएस से ऑनलाइन होने वाले चालान पर अब लोग तरह-तरह के बहाने बना रहे हैं। लोगों को पता नहीं है कि उनके गाड़ी नंबर के साथ फोटो भी खींची गयी है। ज्यादातर ने कहा कि उन्होंने कभी ट्रैफिक रूल नहीं तोड़ा। हर्षित अग्रवाल ने कहा कि वह ट्रांसपोर्ट नगर में व्यवसाई हैं। कभी ऐसा नहीं किया। लेकिन इनकी गाड़ी के नंबर सहित फोटो है। इसी तरह निर्मला जो कि मुकरीमनगर डालीगंज की रहने वाली हैं यह भी लगातार बिना ट्रैफिक नियमों का पालन किए गाड़ी दौड़ा रही हैं। इनका भी 19 बार चालान हो चुका है। मोहित, अब्दुल सलमान खान, वकील सिद्धकी, रिंकू, दीप कुमार जयसवाल, गौरव अस्थाना, मोहम्मद रिहान, गिरीश सिंह बिष्ट, सौरभ शुक्ला, आयुष गुप्ता, अवनीश श्रीवास्तव, बालकृष्ण अग्रवाल, ओम प्रकाश निषाद, जावेद बख्श सिद्दीकी, सतीश कुमार तिवारी, मोहम्मद इमरान, राकेश ओमकार कश्यप, डॉक्टर छवि नंदा, स्मृति श्रीवास्तव, मोहम्मद तबरेज, रति वर्मा सहित 115 लोग ऐसे हैं जो कई बार ट्रैफिक रूल तोड़ चुके हैं।

Related Articles

Back to top button