लखनऊ/उत्तरप्रदेश

तकनीकी से सहकारी समितियों का होगा आधुनिकीकरण, सहकार भारती के प्रशिक्षण में फ्लिपकार्ट की ओर से दिया गया प्रशिक्षण …

कानपुर । सहकार भारती उत्तर प्रदेश की ओर से आयोजित प्रशिक्षण वर्ग के दौरान     ‘सहकारिता का आधुनिकीकरण’ विषय पर  फ्लिपकार्ट की ओर से प्रतिभागियों को तकनीकी ज्ञान से प्रशिक्षित किया गया।  यस रायल गेस्ट हाउस पतारा में आयोजित प्रशिक्षण वर्ग में नरेंद्र उपाध्याय ने कहा कि सहकारिता हर क्षेत्र में है और हर क्षेत्र के विकास के लिए सहकारिता के कार्यकर्ताओं को बढ़—चढ़कर योगदान देना होगा। इसके लिए हमें वंचितों और शोषितों की आवाज बननी है जो विकास की दौड़ में पीछे रह गए हैं।

इस दौरान अलग—अलग सत्रों में आयोजित परिचर्चा में सहकार भारती के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र उपाध्याय, फ्लिपकार्ट के गिरीश नायर, पॉलिसी वॉच इंडिया फांउडेशन के मुनिशंकर पांडेय, कार्यक्रम के संयोजक अरविंद दूबे सहित तमाम प्रबुद्ध जनों ने सत्र को संबोधित किया।

तकनीकी के माध्यम से हम उन तबकों तक आसानी से पहुंच सकते हैं जिनसे पहले नहीं पहुंच पाएं हैं। इसलिए तकनीकी का ज्ञान बहुत आवश्यक है और तकनीकी से ही सहकारी समितियों का आधुनिकीकरण होगा। नरेंद्र उपाध्याय ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सहकारिता के विकास की असीम संभावनाएं हैं। इन संभावनाओं के दोहन के लिए तकनीक का उपयोग अनिवार्य है। इसलिए सहकार भारती के सदस्यों को तकनीकी से जोड़ा जा रहा है।

फिल्पकार्ट के नकुल गुलाटी ने बताया कि फ्लिपकार्ट का सदस्य बनना बहुत आसान है और आप ​दस मिनट में इस आनलाइन कंपनी का सदस्य बन सकते हैं। उन्होंने उदाहरण देकर बताया कि कैसे सहकारी उत्पाद को देश के किसी भी कोने से किसी भी कोने तक भेज सकते हैं।

प्रशिक्षण वर्ग के अलग—अलग सत्र में वक्ताओं ने सहकारी समितियों के विकास की संभावनाओं पर खुलकर चर्चा की और आगे की रणनीति बनाने पर जोर दिया। एमएसएमई और सहकारिता के सही मायनों में विकास के लिए तकनीकी को अपनाना बेहद जरूरी है। इसमें निजी क्षेत्र की भागीदारी नितांत आवश्यक है और यह सब कोऑपरेटिव और कॉरपोरेट में समन्वय से ही यह संभव होगा।

Related Articles

Back to top button