देश

ED के नोटिस पर संजय राउत बोले- भले ही मेरा सिर धड़ से अलग कर दिया जाए, लेकिन मैं गुवाहाटी का रास्ता नहीं अपनाऊंगा ….

मुंबई । शिवसेना सांसद संजय राउत ने धन शोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से उन्हें जारी समन को ‘साजिश’ करार दिया। उन्होंने कहा कि भले उनकी हत्या कर दी जाए, लेकिन वह महाराष्ट्र के बागी विधायकों की तरह गुवाहाटी का रास्ता नहीं अपनाएंगे। राउत ने ट्वीट किया, “मुझे अभी-अभी पता चला है कि ईडी ने मुझे नोटिस भेजा है। महाराष्ट्र में बड़े घटनाक्रम हो रहे हैं। हम सभी बालासाहेब के शिवसैनिक हैं। यह साजिश है। भले ही मेरा सिर धड़ से अलग कर दिया जाए, लेकिन मैं गुवाहाटी का रास्ता नहीं अपनाऊंगा।” शिवसेना प्रवक्ता ने यह ट्वीट मराठी भाषा में किया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता देवेंद्र फडणवीस को इसमें टैग किया। राउत ने ईडी को उन्हें गिरफ्तार करने की चुनौती भी दी। वहीं, शिवसेना सांसद के विधायक भाई सुनील राउत ने दावा किया कि ईडी का समन उनके भाई को डराने के लिए है, क्योंकि वह भाजपा का विरोध कर रहे हैं।

संजय राउत ने कहा, “मैं तो सामना के दफ्तर में हूं। यहां नोटिस नहीं आ सकता। जिस तरह के राजनीतिक हालात हैं, मुझे पता था कि ऐसा होगा। लेकिन आप जितना चाहें तकलीफ दें, चाहें फांसी पर चढ़ा दें या गर्दन काट दें, मैं गुवाहाटी जाने वाला नहीं हूं। मैं बालासाहेब की शिवसेना के साथ आखिरी सांस तक खड़ा रहूंगा। चाहे मुझे गोली मार दो। अलीबाग में मेरी सभा है। मैं ईडी के दफ्तर में जाऊंगा। मैं भागने वाला नहीं हूं।”

अधिकारियों ने बताया कि ईडी ने राउत को मुंबई की एक ‘चॉल’ के पुनर्विकास से जुड़े कथित धन शोधन मामले की जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए मंगलवार को तलब किया है। यह समन ऐसे समय में जारी किया गया है, जब शिवसेना अपने ही विधायकों के एक धड़े की बगावत से जूझ रही है। ये विधायक गुवाहाटी में डेरा डाले हुए हैं। उनकी बगावत से महाराष्ट्र की महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार का भविष्य सवालों के घेरे में आ गया है।

Related Articles

Back to top button