मध्य प्रदेश

कैंसर की दवाई के लिए रिसर्च करने इंदौर पहुंचे साइंटिस्ट की संदिग्ध मौत, होटल में मिली साइंटिस्ट डॉ. बृजगौरव शर्मा की लाश …

इंदौर। यहां बीती रात एक होटल में ठहरे नोएडा के ख्यात साइंटिस्ट डॉ. बृजगौरव शर्मा की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। वे कैंसर की बीमारी पर शोध कर रहे थे। घटना की जानकारी मिलने पर पहुंची विजयनगर थाना पुलिस ने परिजनों को सूचना देकर शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इधर, परिजनों को घटना की जानकारी मिलते ही वह सीधे एमवाय अस्पताल पहुंचे।

दरअसल, ख्यात साइंटिस्ट डॉ. बृजगौरव शर्मा बीते 7 दिनों पूर्व एक शोध के लिए हैदराबाद से यहां इंदौर आए हुए थे। जो विजय नगर थाना इलाके के होटल में ठहरे हुए थे। होटल में उनके कर्मचारी भी मौजूद रहते थे। उनके परिजनों ने उनसे बात की, तो उन्होंने वीडियो कॉलिंग के माध्यम से बताया कि उनके सर में दर्द हो रहा है। तबीयत थोड़ी खराब है, वह ठीक हो जाएंगे और दोबारा हैदराबाद निकल जाएंगे। लेकिन परिजनों को नहीं पता था कि डॉ. ब्रिज गौरव की वह रात इंदौर में आखिरी रात होगी।

बहरहाल, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मामले का खुलासा होने की बात कही है। पुलिस के मुताबिक डॉ. गौरव शर्मा कैंसर की देसी लाइलाज बीमारी पर शोध कर रहे थे और इसी सिलसिले में संभवत: इंदौर के होटल में रुके हुए थे। बीती रात जब उनकी तबीयत बिगड़ने लगी, तो उन्हें निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां से उन्हें बड़े अस्पताल रेफर कर दिया। यहां पहुंचने तक उनकी हालत बिगड़ चुकी थी और डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था।

इस पूरे मामले में गौरव शर्मा के भाई ने बताया कि वह बहुत सारी दवाओं पर शोध किया करते थे। उन्होंने शुगर की दवाई भी बनाई थी। वर्तमान में वह कैंसर की दवाई पर इंदौर में रिसर्च कर रहे थे, जो आखरी स्टेज पर थी। उन्होंने बताया कि कुछ भी नहीं कहा जा सकता। क्योंकि वह जिस जगह रुके थे, वहां से 3 मिनट की दूरी पर हॉस्पिटल है,  जहां उनको लेकर गए हों, डॉक्टरों ने अस्पताल में उन्हें मृत घोषित कर दिया। हो सकता है कि कंपीटीटर को पता चल गया हो कि वह यहां हैं या कुछ भी उनके साथ गलत होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

Related Articles

Back to top button