नई दिल्ली

सुनीता केजरीवाल ने वीडियो संदेश किया जारी, कहा- केजरीवाल को एक गहरे राजनीतिक षडयंत्र का शिकार बनाया गया

नई दिल्ली
CBI द्वारा CM अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल ने शनिवार को एक वीडियो संदेश जारी किया, जिसमें उन्होंने बताया कि किस तरह NDA के सांसद मगुंटा श्रीनिवासन रेड्डी (MSR) के झूठे बयान देने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है। सुनीता ने बताया कि जब तक MSR ने सीएम के खिलाफ बयान नहीं दिया गया, ईडी ने मगुंटा के बेटे की जमानत नहीं होने दी। और सीएम के खिलाफ बयान देते ही दो दिन के अंदर ही MSR के बेटे की जमानत हो गई।

सुनीता ने कहा कि अपने बेटे को जेल से निकलवाने के लिए MSR ने झूठा बयान दिया, कोर्ट ने भी केजरीवाल जी को जमानत देते हुए यही माना कि ईडी ने बिना किसी सबूत के जमानत का लॉलीपॉप देकर MSR का बयान लिया। सुनीता ने कहा कि आपके बेटे केजरीवाल जी को एक गहरे राजनीतिक षडयंत्र का शिकार बनाया गया है। वे एक सामान्य, पढ़े-लिखे, देशभक्त और कट्टर ईमानदार व्यक्ति हैं और आज  आज हमें उनके साथ खड़े होने की आवश्यकता है।

अपने वीडियो संदेश में सुनीता केजरीवाल ने कहा, 'नमस्कार, क्या आपको पता है कि केजरीवाल जी को गिरफ्तार क्यों किया है, केजरीवाल जी को NDA के एक सांसद के बयान पर गिरफ्तार किया गया है। उनका नाम है मगुंटा श्रीनिवासन रेड्डी यानी MSR, जो कि आंध्र प्रदेश से NDA के एक सांसद हैं। उन्होंने ऐसा क्या बयान दिया कि आपके मुख्यमंत्री को गिरफ्तार कर लिया गया। 17 सितम्बर 2022 को MSR के ठिकानों पर ईडी का छापा पड़ा। उनसे पूछा गया किया कि क्या आप कभी केजरीवाल जी से मिले हैं। उन्होंने कहा- हां मैं 16 मार्च 2021 को केजरीवाल जी से दिल्ली सचिवालय में उनके दफ्तर में मिला था। उन्होंने कहा-  मैं दिल्ली में एक फैमिली चैरिटेबल ट्रस्ट खोलना चाहता था, उसके लिए दिल्ली के सीएम से जमीन के लिए बात करने गया था। केजरीवाल जी ने कहा, लैंड एलजी के पास है, आवेदन दे दो, हम देखते हैं और कहकर चले गए। ईडी को MSR का जवाब पसन्द ही नहीं आया। कुछ दिन बाद ईडी ने MSR के बेटे राघव मगुंटा को गिरफ्तार कर लिया। फिर से MSR के और बयान लिए गए, मगर वो अपना पहले वाला बयान ही दोहराते रहे, क्योंकि वही सच था और उनके बेटे राघव की जमानत खारिज होती रही।'

आगे सुनीता ने कहा, 'इस दौरान सदमे से राघव की पत्नी यानी MSR की पुत्रवधू ने आत्महत्या करने की कोशिश की और उनकी बूढ़ी मां बहुत बीमार हो गई। इन सबको देखते हुए बेटे के लिए बाप भी टूट गया। 17 जुलाई 2023 को पिता MSR ने ईडी में अपना बयान बदल लिया। उन्होंने अब कहा- 16 मार्च 2021 को मैं केजरीवाल जी से मिलने गया था, मुश्किल से 4-5 मिनट मुलाकात हुई, वहीं 10-12 लोग बैठे हुए थे, मेरे कमरे में घुसते ही केजरीवाल जी ने मुझसे कहा कि दिल्ली में आप शराब का काम शुरू करो, बदले में आम आदमी पार्टी को 100 करोड़ रुपए दे दीजिए। केजरीवाल जी से ये मेरी पहली और आखिरी मुलाकात थी।'

उन्होंने आगे बताया, 'इस बयान के बाद अगले ही दिन MSR के बेटे राघव रेड्डी को ईडी ने जमानत दिलवा दी। जाहिर है कि MSR का यह बयान झूठा है। वे खुद कह रहे हैं कि यह केजरीवाल जी से उनकी पहली और आखिरी मुलाकात थी। 10-12 लोग वहां बैठे हुए थे, अगर किसी को किसी से पैसे मांगने भी थे, तो क्या कोई किसी अजनबी से पहली मुलाकात में ही 10-12 लोगों के सामने इस तरह पैसे मांग लेगा। जाहिर है कि MSR के बेटे और परिवार को 5 महीने बुरी तरह प्रताड़ित किया गया। इसीलिए MSR ने अपने बेटे को बचाने के लिए झूठा बयान दिया। और इस बयान को देने के बाद दो दिन में ही MSR के बेटे को जमानत मिल गई।'

आगे उन्होंने कहा, 'इन सब बयानों से एक बात तो साफ हो गई कि अपने बेटे को जेल से निकलवाने के लिए MSR ने झूठा बयान दिया, कोर्ट ने भी केजरीवाल जी को जमानत देते हुए यही माना कि ईडी ने जमानत का लॉलीपॉप देकर MSR का बयान लिया, बिना किसी सबूत के, आपके बेटे केजरीवाल जी को एक गहरे राजनीतिक षडयंत्र का शिकार बनाया गया है। वे एक सामान्य, पढ़े-लिखे, देशभक्त और कट्टर ईमानदार व्यक्ति हैं। यदि आज आप उनके साथ खड़े नहीं हुए तो इस देश में पढ़े-लिखे ईमानदार लोग कभी राजनीति में नहीं आएंगे। क्या मोदीजी केजरीवाल जी के साथ ठीक कर रहे हैं। इस वीडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करिए, ताकि देश को पता चल सके कि मोदीजी कैसे ईडी, सीबीआई के जरिए एक गहरे राजनीतिक षडयंत्र के तहत आपके केजरीवाल और आम आदमी पार्टी को खत्म करना चाह रहे हैं, जय हिन्द।'

 

Back to top button