देश

मोटे हो रहे पुलिसकर्मी, ऑफिस में काम करने वाले अब हफ्ते में 3 दिन फील्ड में करेंगे ड्यूटी; कलम वाले हाथों में होगी रायफल ….

मुजफ्फरपुर। लगातार पुलिस ऑफिस में काम कर रहे रीडर व अन्य पुलिसकर्मियों की फिटनेस बिगड़ रही है। वे मोटे हो रहे हैं। इस स्थिति पर पुलिस मुख्यालय चिंतित है। मुख्यालय ने जिला से लेकर रेंज कार्यालयों तक में ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मियों को अब विधि-व्यवस्था संभालने में भी सेवा देने का निर्देश जारी किया है। इसके तहत अब पुलिस ऑफिस में काम करने वाले जवान से लेकर अधिकारी तक सप्ताह में तीन दिन विधि व्यवस्था संबंधी ड्यूटी सड़क पर करेंगे। प्रत्येक जिले में 200 से अधिक पुलिस कर्मी कार्यालयों में कार्यरत रहते हैं। इस तरह राज्य भर में यह संख्या सात हजार से अधिक बताई गई है।

नये निर्देश के अनुपालन के लिए ड्यूटी का नया रोस्टर बनाया गया है। ऐसे पुलिस कर्मियों को सप्ताह में तीन दिन पुलिस लाइन में सुबह-सुबह परेड में शामिल होना अनिवार्य कर दिया गया है। प्रत्येक जिले में दो सौ से ढाइ सौ पुलिस कर्मी, पुलिस अधीक्षक से लेकर डीएसपी और सर्किल इंस्पेक्टर स्तर तक के कार्यालय में काम कर रहे हैं। इसमें रीडर कैडर के अलावा पत्रवाहक और शाखा प्रभारी व अन्य क्लर्क तक शामिल हैं।

एसएसपी जयंतकांत ने शनिवार को बताया कि मुख्यालय से जारी निर्देश के आलोक में अब पुलिस ऑफिस के तमाम पुलिस कर्मियों को विधि-व्यवस्था की ड्यूटी अनिवार्य कर दी गई है। इसमें जवान से लेकर अधिकारी तक शामिल हैं। रोस्टर के अनुसार इनकी ड्यूटी लगेगी। ऑफिस में कलम चलाने वाले जवान तीन दिन रायफल लेकर फील्ड में ड्यूटी करेंगे। उसी तरह अधिकारी (इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर व एएसआई) भी गश्त, छापेमारी व अन्य विधि व्यवस्था की ड्यूटी करेंगे।

मुजफ्फरपुर में 265 पुलिस कर्मी सरकारी कार्यालयों में कार्यरत हैं। इन सभी की ड्यूटी हर सप्ताह तीन दिन अलग-अलग थाना इलाके और तीन दिन पुलिस लाइन में परेड के लिए लगाई गई है। इन पुलिस कर्मियों को अलग-अलग चेक प्वाइंट पर लगाया जा रहा है। ड्यूटी का निर्धारण पुलिस लाइन से किया जाता है। लाइन के डीएसपी विपिन कुमार ने रोस्टर तैयार किया है।

Related Articles

Back to top button