Breaking News

शिक्षा से ही जीवन के लक्ष्य को साधा जा सकता है: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह के वर्चुअल कार्यक्रम में माध्यमिक शिक्षा मंडल की वर्ष 2019 एवं वर्ष 2020 की 10वीं एवं 12वीं बोर्ड की परीक्षा में प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले 159 मेधावी छात्र-छात्राओं एवं विशेष पिछड़ी जनजाति के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को स्वामी आत्मानंद मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत मेडल और प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। उन्होंने सभी प्रतिभावान छात्र-छात्राओं सहित उनके पालकों और शिक्षकों को बधाई और शुभकामनाएं दी। स्वामी आत्मानंद मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को 1.50 लाख रूपए की राशि दी जाती है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि प्रतिभा सम्मान समारोह का यह पल अत्यंत गौरवशाली है। उन्होंने कहा कि शिक्षा से ही जीवन लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। इससे जीवन को सकारात्मक दिशा मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सब देश और प्रदेश के भविष्य हैं। उन्होंने प्रतिभावान विद्यार्थियों से ज्ञान-विज्ञान, कला, संस्कृति, प्रशासन सहित सभी क्षेत्रों में विकास के नए आयाम स्थापित करने का आव्हान किया। मुख्यमंत्री ने इस दौरान सभी विद्यार्थियों से एक-एक कर उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि और उनके जीवन लक्ष्य के बारे में भी जानकारी ली।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को बेहतर एवं उच्च शिक्षा के लिए हर संभव मदद कर रही है और यह मदद आगे भी जारी रहेगी। मुख्यमंत्री ने उन्हें मन लगाकर पढ़ाई करने और सफलता हासिल कर माता-पिता और छत्तीसगढ़ का नाम रौशन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि आप सब से बात करके प्रसन्नता हुई है। उन्होंने बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ अच्छे लोगों से सत्संग करने और श्रेष्ठ आचार-विचार को अपनाने की सीख दी।

स्कूल शिक्षा मंत्री डा. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभावान विद्यार्थियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने उम्मीद जतायी की प्रतिभावान विद्यार्थी राज्य के विकास एवं सामाजिक उत्थान में अपना योगदान देंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य की विशेष पिछड़ी जनजाति के 28 छात्र-छात्राओं को जिन्होंने विशेष पिछड़ी जनजाति वर्ग में बोर्ड परीक्षा में सर्वोच्च अंक अर्जित किए है उन्हें भी स्वामी आत्मानंद मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत सम्मानित किया जा रहा है।

माध्यमिक शिक्षा मण्डल के सचिव प्रो. व्ही. के. गोयल ने बताया कि वर्ष 2019 एवं वर्ष 2020 के तहत हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी की प्रावीण्य सूची कुल 125 मेधावी छात्र-छात्राओं सहित संकायवार प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले 15 तथा विशेष पिछड़ी जनजाति वर्ग में सवोच्च अंक प्राप्त करने वाले 28 इस प्रकार कुल 159 मेधावी छात्र-छात्राओं को योजना के तहत मेडल एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया है। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा डा. आलोक शुक्ला, संचालक लोक शिक्षण जितेन्द्र शुक्ला उपस्थित थे। कार्यक्रम में सभी जिलों कलेक्टर, शिक्षा मण्डल के सदस्य, जिला शिक्षा अधिकारी एवं प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थी वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए।

error: Content is protected !!