Breaking News

राहुल गांधी के टीम में रहे जतिन प्रसाद ने थामा भाजपा का दामन, उत्तरप्रदेश चुनाव के पहले कांग्रेस को बड़ा झटका …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । कांग्रेस के कद्दावर नेता जितिन प्रसाद ने भी कांग्रेस को बाय बाय कह दिया है। उत्तरप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के हिसाब से इस प्रवेश को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। जतिन प्रसाद उत्तरप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रह चुके हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद राहुल गांधी के करिबियों में जतिन प्रसाद दूसरे व्यक्ति हैं जिन्होंने कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थामा है।

आज दोपहर एक बजे भाजपा मुख्यालय 6ए डीडीयू मार्ग, नई दिल्ली में वे पार्टी की सदस्यता ग्रहण उन्होंने ग्रहण कर ली है। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और बीजेपी के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी ने उन्हें बीजेपी की सदस्यता दिलाई इससे पहले जतिन प्रसाद ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की थी। माना जा रहा है जतिन प्रसाद  राहुल गांधी के काफी करीबी थे। काफी दिनों से वे कांग्रेस से खफा चल रहे थे। आज वह केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के घर भी उनसे मुलाकात करने पहुंचे थे यानि उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने कांग्रेस को बड़ा झटका दे दिया है ।

जितिन प्रसाद का जन्म 29 नवंबर 1973 को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में हुआ। जितिन प्रसाद के पिता जितेन्द्र प्रसाद (बाबा साहिब) भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गाँधी (1991) , पी.वी.नरसिम्हा राव (1994) के राजनितिक सलाहकार रहे हैं। साथ ही वह उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष (1995) तथा भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उपाध्यक्ष रह चुके हैं।

जितिन प्रसाद ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा द दून पब्लिक स्कूल (देहरादून, उत्तराखंड) तथा स्नातक में दिल्ली विश्विवद्यालय से बी.कॉम तथा अंतर्राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान (दिल्ली) से MBA किया है। सर्वप्रथम जितिन प्रसाद सन 2001 में भारतीय युवा कांग्रेस में सचिव बने। सन 2004 में उन्होंने अपने गृह लोकसभा सीट शाहजहाँपुर से 14 वीं लोकसभा चुनाव में किस्मत आजमायी तथा विजय भी प्राप्त हुई।

पहली बार जितिन प्रसाद को सन 2008 में केन्द्रीय राज्य इस्पात मंत्री नियुक्त किया गया। उसके बाद सन 2009 में जितिन प्रसाद 15 वीं लोकसभा चुनाव लोकसभा धौरहरा से लड़े व 184509 वोटों से विजयी भी हुए।

error: Content is protected !!