मध्य प्रदेश

छिंदवाड़ा में निगम आयुक्त ने कमलनाथ के साथ उनके बंगले पर गरीबों को बांटे चेक, भाजपा सरकार ने किया निगम कमिश्नर का तबादला …

भोपाल. छिंदवाड़ा नगर निगम कमिश्नर हिमांशु सिंह को पीएम आवास योजना के हितग्राहियों को सब्सिडी वाले चेक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के बंगले से बंटवाना भारी पड़ गया. भाजपा प्रदेश संगठन की शिकायत के बाद सरकार ने एक्शन लेते हुए उनका तबादला कर दिया.

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में कमलनाथ के बंगले पर रविवार को कमलनाथ के साथ निगम कमिश्नर हिमांशु सिंह और महापौर विक्रम अहाके ने पीएम आवास योजना में हितग्राहियों को मिलने वाली सब्सिडी के चेक वितरित किए थे.

इस पर भाजपा के छिंदवाड़ा जिलाध्यक्ष विवेक साहू ने प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और प्रभारी मंत्री कमल पटेल से निगम कमिश्नर हिमांशु सिंह की शिकायत की थी. इसके बाद प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा सोमवार दोपहर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने सीएम हाउस गए. इसके बाद हिमांशु सिंह का तबादला आदेश जारी हो गया.

हिमांशु सिंह का तबादला सोमवार को नगरीय प्रशासन एवं विकास संचालनालय भोपाल में किया गया है. उनके स्थान पर सागर स्मार्ट सिटी के सीईओ राहुल सिंह राजपूत को भेजा गया है. नए आयुक्त राहुल सिंह राजपूत केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर को खास बताए जा रहे हैं.

रविवार को जैसे ही सोशल मीडिया पर इस मामले के फोटो सार्वजनिए हुए, वैसे ही छिंदवाड़ा जिलाध्यक्ष विवेक साहू ने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और प्रभारी मंत्री कमल पटेल को हिमांशु सिंह की शिकायत कर दी. इसके बाद सोमवार दोपहर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा सीएम हाउस गए थे. बताया जाता है तभी उन्होंने सीएम से इस मामले की शिकायत की और फिर शाम होते-होते सिंह के तबादला आदेश जारी हो गए.

पीएम आवास योजना में श्रमिक कल्याण योजना में रजिस्टर्ड श्रमिकों को एक लाख की सब्सिडी मिलती है. ये राशि श्रम विभाग नगर निगम को देता है. इसी राशि को नगर निगम को हितग्राहियों को देनी थी. यह काम नगर निगम के दफ्तर में ऑनलाइन होना था, लेकिन छिंदवाड़ा में नाथ के बंगले पर उनके हाथों कमिश्नर सिंह ने सोनपुर मल्टी में रहने वाले 104 श्रमिकों के नाम डमी चेक वितरित कराए और बाद में उनके खातों में राशि ट्रांसफर की गई.

उल्लेखनीय है कि छिंदवाड़ा जिले में 6 नगरीय निकाय के चुनाव का मतदान होना था. चुनाव प्रचार के लिए 25 सितंबर को कमलनाथ छिंदवाड़ा में थे. हालांकि छिंदवाड़ा नगर निगम में चुनाव दो महीने पहले ही हो चुके हैं. लिहाजा, यहां चुनाव नहीं थे. फिर भी, भाजपा की आपत्ति के कारण मंगलवार को होने वाले छह नगरीय निकाय चुनाव से 24 घंटे पहले यानी सिंह का तबादला कर दिया गया.

Related Articles

Back to top button