मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में कुलपति की नियुक्ति पर विवाद, कांग्रेस ने उठाए सवाल

नेता प्रतिपक्ष बोले- पीएम मोदी को पत्र लिखकर पूछेंगे कि 'न खाऊंगा न खाने दूंगा' पॉलिसी का क्या हुआ? जरूरत पड़ी तो हाईकोर्ट भी जाएंगे

भोपाल। एमपी में जबलपुर कृषि विश्वविद्यालय के नए कुलपति प्रमोद कुमार मिश्रा की नियुक्ति का मामला प्रदेश में गर्माता जा रहा है. स मुद्दे पर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने नजर आ रही है। कांग्रेस ने नए कुलपति की नियुक्ति पर सवाल उठाए हैं, कांग्रेस ने मामले में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और शिवराज सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस के सवाल उठाए जाने के बाद यह नियुक्ति मध्य प्रदेश के सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बनी हुई है और इस पर लगातार सवाल खड़े किए जा रहे हैं.

नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह ने शुक्रवार को कांग्रेस कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि नव नियुक्त कुलपति डॉ. प्रमोद कुमार मिश्रा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के ससुर हैं। यह नियुक्ति गलत है। उन्होंने शुक्रवार को कांग्रेस कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरोप लगाया कि बीजेपी वाले सिर्फ अपनों की भर्ती कर रहे हैं। इस मामले पर वे पीएम मोदी को पत्र लिखकर पूछेंगे कि ‘न खाऊंगा न खाने दूंगा’ पॉलिसी का क्या हुआ? अगर जरूरत पड़ी तो हाईकोर्ट भी जाएंगे।

कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने भी ट्वीट कर पूछा सवाल

कुलपति के पद पर डॉ. मिश्रा की नियुक्ति के बाद कांग्रेस ने ट्वीट किया है। पार्टी के सीनियर नेता केके मिश्रा ने लिखा- मैं पारिवारिक हमले नहीं करता। हालांकि 18 साल में मुझे व मेरे परिवार को कई तरह से प्रताड़ित किया गया, किंतु यह जानना जरूरी है कि कुलाधिपति ने जबलपुर कृषि विवि के कुलपति के रूप में जिन पीके मिश्रा जी की नियुक्ति की है, क्या इसलिए वे संघी, अतियोग्य हैं या वीडी शर्मा के ससुर हैं।

डॉ. मिश्रा को 40 साल का अनुभव, 93 रिसर्च पेपर पब्लिश

डॉ. मिश्रा को 40 साल का अनुभव है। उनके 93 रिसर्च पेपर भी पब्लिश हो चुके हैं। वर्ष 1980 में सहायक प्रोफेसर बनने के बाद वे 1999 से 2009 तक प्रोफेसर, 2001-2009 से प्रोफेसर एवं अध्यक्ष कृषि विभाग, अर्थशास्त्र और कृषि प्रबंधन रहे। एग्रीकल्चर कॉलेज टीकमगढ़ में डीन, निर्देशक निर्देश और विस्तार सेवाएं समेत वर्ष 2019 से कुलपति बनने तक वे निदेशक (अनुसंधान सेवाएं) के पद पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। इसके अलावा, भारी निदेशक खेती लागत योजना मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़, कृषि में मास्टर ऑफ एग्रीबिजनेस मैनेजमेंट (एमबीए) के पाठ्यक्रम निदेशक, कृषि-आर्थिक अनुसंधान केंद्र मध्यप्रदेश के प्रभारी निदेशक समेत कई बड़े पदों पर रह चुके हैं। ज्ञात हो कि मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगूभाई पटेल ने 17 नवंबर को डॉ. प्रमोद कुमार मिश्रा की नियुक्ति आदेश जारी किए। डॉ. मिश्रा को पांच साल के लिए कुलपति नियुक्त किया है।

Related Articles

Back to top button