छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़-कोरबा में महुआ शराब पीने से महिला समेत तीन की मौत

कोरबा.

कोरबा जिले के करतला थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम कोटमेर में महुआ की शराब पीने से एक महिला समेत तीन लोगों की मौत हो गई। मृतकों की पहचना मालती बाई (50), राम सिंह (60) और वेदराम (49) के रूप मे हुई है। तीन घर में साथ बैठकर शराब पी रहे थे। जिससे उनकी मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक, वेदराम के घर में सभी बैठकर शराब पी रहे थे। वहां चखना और कच्ची महुआ शराब पड़ी हुई मिली। शराब पानी से तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही करतला पुलिस मौके पर पहुंची। इस मामले में कोरबा पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी ने बताया कि तीनों की मौत का कारण जहरीली शराब है या उन्होंने विषाक्त भोजन किया है अभी इस पर कुछ भी कहना ठीक नहीं है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही कुछ स्पष्ट हो पाएगा।

 घटना मंगलवार दोपहर लगभग डेढ़ बजे की बताई जा रही है। गांव में रहने वाले बेदराम उम्र 44 वर्ष अपने घर से थोड़ी दूर पर एक मकान बना रहा था। मकान में उसके साथ रामसिंह उम्र 60 वर्ष भी काम कर रहा था। दोपहर लगभग डेढ़ बजे बेदराम, रामसिंह और पड़ोस में रहने वाली मालती बाई 50 वर्ष बेदराम के घर पहुंचे। तीनों ने एक साथ खाना खाया। इसके थोड़ी देर बाद तीनों की मौत हो गई।
दोपहर लगभग 2 बजे मालती बाई का पति चैतराम घर पहुंचा तो उसकी पत्नी घर में नहीं थी। वह बेदराम के निर्माणाधीन मकान के पास गया तो उसने तीनों को मृत अवस्था में देखा। चैतराम अपनी पत्नी को उठाकर अपने घर ले आया उसे खाट पर लेटा दिया। उसने घटना की सूचना गांव के सरपंच नीलांबर राठिया को दी। पुलिस को अवगत कराया गया। गांव में तीन लोगों के मौत की सूचना मिलते ही पुलिस बिना देरी किए घटना स्थल पर पहुंची। मामले की जांच शुरू की।

पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने घटना के संबंध में जानकारी ली। ग्रामीणों से कई बिंदुओं पर पूछताछ किया। जांच में मदद के लिए फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम भी मौके पर पहुंची। उसने घटना स्थल से कुछ नमूनों को एकत्र किया। इसकी जांच लैब में कराई जाएगी। पुलिस का कहना है कि शव को कब्जे में लिया गया है। बुधवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इसके बाद ही मृत्यु का कारण स्पष्ट हो सकेगा। गांव में तीन लोगों की मौत से सन्नाटा पसरा हुआ है। घटना कैसे हुई इससे ग्रामीण भी खुद को अनजान बता रहे हैं।

घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने मछली, चावल, एक पॉलिथीन में रखी गई कच्ची शराब और गिलास को जब्त किया है। ग्रामीणों का कहना है कि बेदराम के घर मकान का कार्य चल रहा था। तीनों ने एक साथ खाना खाया था। उन्होंने कच्ची शराब भी पी थी, जैसा कि घटना स्थल पर दिख रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि उनकी मौत कच्ची शराब पीने से हुई है जो जहरीली होगी। वहीं पुलिस इस मसले पर ज्यादा बोलने को तैयार नहीं है। पुलिस का कहना है कि तीनों शव को जांच के लिए कब्जे में लिया गया है। बुधवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा और वैज्ञानिक जांच के बाद मृत्यु का कारण स्पष्ट हो सकेगा।

गांव में शराबबंदी, बाहर से लेकर आए थे मदिरा
ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम कोटमेर में शराबबंदी है। गांव में न तो शराब बनती है और न ही इसकी बिक्री होती है। ग्रामीणों को आशंका है कि बेदराम या रामसिंह ने किसी अन्य गांव से शराब खरीदकर लाया होगा, जिसे पीने के बाद तीनों की मौत हुई होगी।

शव का वैज्ञानिक परीक्षण किया जाएगा। घटना स्थल से मछली के अलावा कुछ अन्य खाद्यान्न मिले हैं। गिलास को जब्त किया गया है। एफएसएल की टीम ने घटना स्थल का दौरा किया है। मामले की जांच की जा रही है।
मृत महिला मालती के पति ने मुझे फोन पर घटना की जानकारी दी। जब मैं मौके पर पहुंचा तो तीनों की मौत हो गई थी। खाट पर बेदराम और जमीन पर रामसिंह की लाश पड़ी थी। घटना स्थल पर पॉलिथीन में शराब, चखना और मछली पड़ा हुआ था। उनकी मौत जहरीली शराब पीने से हुई होगी।

Back to top button