Uncategorized

वोटिंग से पहले गोरखपुर में बेघर हुए चंद्रशेखर, आजाद बोले- योगी के घोटालों की फाइल तैयार कर ली है ….

गोरखपुर। करहल के बाद सबसे हॉट सीट मानी जानी वाली गोरखपुर में चुनावी माहौल लगातार गर्माता जा रहा है। उत्तर प्रदेश के रण में पार्टी की स्थिति मजबूत करने में जुटे चंद्रशेखर आजाद को वोटिंग से पहले ही तगड़ा झटका लगा है। गोरखपुर से चंद्रशेखर आजाद का घर बलपूर्वक खाली कराया गया है। मकान खाली होने से नाराज आजाद ने एक बार फिर योगी आदित्यनाथ पर हमला बोल दिया है। आजाद ने योगी आदित्यनाथ पर सरकारी मशीनरी का गलत इस्तेमाल करने का भी आरोप लगाया है। इसके अलावा आजाद ने यूपी सरकार में हुए घोटालों की फाइल करने करने की भी बात कही है।

गोरखपुर सदर सीट से मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ रहे भीम आर्मी चीफ ने प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान योगी आदित्यनाथ ने कई आरोप लगाए। चंद्रशेखर ने कहा, वह गोरखपुर किराए के मकान में रहकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। योगी आदित्यनाथ ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करके उनसे जबरदस्ती घर खाली कराया गया है। उन्होंने कहा, वह पीछे हटने वाले नहीं हैं, पांच दिन से वह गली-गली जाकर प्रचार कर रहे हैं।

चंद्रशेखर ने चुनाव प्रचार के साथ-साथ अब वह अपने लिए एक नया असारा भी ढूंढ रहे हैं, जहां वह पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर आराम कर सकें साथ ही आगे की रणनीति बना सकें। चंद्रशेखर ने बताया कि गोरखपुर शहर सीट पर कुल 15 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। चंद्रशेखर का दावा है कि योगी के खिलाफ चुनाव के ऐलान के बाद से ही भाजपा घबराई हुई है।

गोरखपुर सदर सीट से योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ रहे भीम आर्मी चीफ के नेता चंद्रशेखर आजाद ने कहा, मैं एक गरीब परिवार से आता हूं। जनता से उन्होंने अपील की है कि उन्हें कारपोरेट, धन्नासेट और माफियाओं से पैसा नहीं चाहिए। उन्हें सपोर्ट करने वाली जनता वोट के साथ नोट दे। चुनाव प्रचार में खर्च के सवाल पर उन्होंने कहा, मैं चार-छह जोड़ी कपड़े लेकर गोरखपुर में चुनाव लड़ने आया था। मैं यहां पैसे लेकर नहीं आया था। आज हम लोग पैसे बचाकर चुनावी प्रक्रिया पूरी कर रहे हैं। प्रचार के लेट आने के सवाल पर आजाद बोले, गांव-गांव जाकर पूरे क्षेत्र को कवर कर लूंगा। जनता इस बार परिवर्तन को चुनेगी। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा, देश को बेचने वाले, धर्मजाति को बांटने वाले वोट मांगना बंद करें।

Related Articles

Back to top button