छत्तीसगढ़बिलासपुर

चिटफंड कंपनी खोलकर 800 लोगों से करोड़ों की ठगी, गुरुकृपा इंफ्रा रियल्टी इंडिया का डायरेक्टर गिरफ्तार ….

बिलासपुर। जशपुर जिले में कम समय में रकम दोगुना करने का झांसा देकर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाली चिटफंड कंपनी के निदेशक दिलीप देवांगन को जशपुर पुलिस ने राजधानी रायपुर से गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने गुरुकृपा इंफ्रा रियल्टी इंडिया लिमिटेड के नाम से चिटफंड कंपनी खोलकर रायपुर, जशपुर, जांजगीर-चांपा जिले में करीब 800 लोगों से करोड़ों रुपये ठग लिए। कंपनी के 4 डायरेक्टर पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं और जशपुर जेल में बंद हैं।

जशपुर जिले के पत्थलगांव एसडीओपी मयंक तिवारी ने बताया कि गुरुकृपा इंफ्रा रियल्टी इंडिया लिमिटेड के नाम से संचालित चिटफंड कंपनी के विरुद्ध कुमकेला निवासी देवकुमार सहित सैकड़ों लोगों ने पत्थलगांव थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। कंपनी के लुभावने वायदों में उलझ कर अनेक लोगों ने अपने करोड़ों रुपये जमा कराए थे, लेकिन निवेशकों की राशि लौटने से पहले ही कार्यालयों पर ताला लगाकर सभी डायरेक्टर फरार हो गए थे।

पत्थलगांव क्षेत्र में इस चिटफंड कंपनी द्वारा सैकड़ों लोगों से 2 करोड़ 55 लाख रुपये की ठगी करने की रिपोर्ट दर्ज हैं। दिलीप की गिरफ्तारी के साथ ही पत्थलगांव पुलिस ने कंपनी के सभी 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के रायपुर में छिपे होने की सूचना पर टीम भेजकर गिरफ्तारी की गई। आरोपी दिलीप देवांगन (35 वर्ष) को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

पत्थलगांव थाना प्रभारी नंदनलाल राठिया ने बताया कि कंपनी के डायरेक्टर गुरूप्रीत सिंह (41 वर्ष), विरेन्द्र कुमार सिंह उर्फ बिट्ट (35 वर्ष), अविनाश चंद्रवंशी (46 वर्ष) एलिशामा सोना (39 वर्ष) को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। सभी आरोपी अभी जशपुर जेल में बंद हैं। 25 सितंबर 2019 को अपराध दर्ज होने के बाद से आरोपी दिलीप कुमार देवांगन फरार था।

आरोपी के रायपुर में छिपे होने की मुखबिर से सूचना मिली, जिसके बाद पुलिस टीम को भेजा गया। पुलिस ने तीन दिनों की मेहनत के बाद आरोपी को दबोच लिया। आरोपी को न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। आरोपियों पर पत्थलगांव थाने में केस दर्ज है। आरोपियों की चल-अचल संपत्तियों की कुर्की की कार्रवाई भी की जा रही है।

Related Articles

Back to top button