मध्य प्रदेश

पोहा फैक्ट्री में बड़ा हादसा, आग लगने से तीन महिला मजदूर ज़िंदा जली, कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश …

भोपाल। मध्यप्रदेश की तीर्थ नगरी उज्जैन में एक पोहा फैक्ट्री में आग लगने से तीन महिलाएं जिंदा जल गईं तथा एक महिला बुरी तरह झुलस गईं। हादसा शुक्रवार शाम नागझिरी थाना क्षेत्र में उद्योगपुरी स्थित फैक्ट्री में हुआ। घटना के वक्त महिलाएं काम कर रही थीं। एक महिला को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया। घटनास्थल पर पुलिस और प्रशासन के अफसर पहुंचे और हादसे की जांच की।

नागझिरी क्षेत्र स्थित उद्योग पूरी में संचालित होने वाली पोहा फैक्टरी बिंदल प्रोसेस में शुक्रवार शाम 5:30 बजे उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब वहां रखे रॉ मटेरियल में अचानक आग लग गई। आग की सूचना पर तीन दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची, जिसके बाद आग पर काबू पाया गया। इस दौरान जब फायर कर्मी अंदर पहुंचे तो एक के बाद एक तीन महिला मजदूर की लाश निकलीं मृतक महिलाओं की पहचान दुर्गाबाई पति राधेश्याम (45) निवासी बोरखेड़ी आगर मालवा, ज्योति पति पप्पू (25) निवासी नागझिरी तथा क्षमा बाई पति प्रभुलाल मालवीय (45) निवासी नेहरू नगर नागझिरी के रूप में की गई है। वहीं, हादसे में घायल महिला का नाम सीमा बताया गया है, उसे गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया है।

लाश को पहचान पाना भी मुश्किल

फायरकर्मियों द्वारा आग पर काबू पाने के बाद जब तीन लाशें निकली तो वे इस तरह जल चुकी थी कि उन्हें पहचान पाना भी मुश्किल हो रहा था। बहरहाल, आग कैसे लगी ये साफ़ नहीं हो पाया है। हादसे की जांच की जा रही है। फैक्ट्री में बड़ी मात्रा में पोहा बनाने का रॉ मटेरियल रखा था।

करंट से या जलने से मौत

घटना स्थल को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि आग इतनी भीषण नहीं रही होगी कि तीन लोगों की मौत हो जाए। संभवतः हादसा शॉर्ट सर्किट के कारण हुआ। शॉर्ट सर्किट से वहां रखे रॉ मटेरियल ने आग पकड़ ली और तीन मजदूर महिलाएं जल गई। हालांकि, उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने इंड्रस्ट्री सेफ्टी और फायर सेफ्टी के अधिकारियों को तीन दिन में जांच रिपोर्ट पेश करने का कहा है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति साफ़ हो पाएगी।

सुरक्षा मानक था या नहीं इसके बाद कार्रवाई

बिंदल प्रोसेस के नाम से संचालित होने वाली इस फैक्ट्री में पोहे बनाने का काम होता था। करीब 25 वर्षों से अधिक समय से फैक्ट्री संचालित हो रही थी। फैक्ट्री के मालिक राकेश बिंदल ने घटना को लेकर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। घटना स्थल पर पहुंचे एसएसपी सत्येंद्र शुक्ल ने बताया कि किन परिस्थियों में घटना हुई, सुरक्षा मानक थे या नहीं, इसको लेकर एफएसएल टीम को जांच करने के आदेश दिए गए हैं, जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके बाद कार्रवाई की जाएगी। संभवतः शार्ट सर्किट से आग लगी है।

Related Articles

Back to top button