Breaking News
.

भाजपा देश को 1990 के दौर में वापस ले जाना चाहती है, जब दंगे हुए थे : ओवैसी

नई दिल्ली।  ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस बार कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पार्टी दिल्ली में नजर नहीं आती है। साथ ही उन्होंने दल-बदल को लेकर भी पार्टी नेतृत्व पर तंज कसा। ओवैसी ने ज्ञानवापी मस्जिद मामले में कहा कि भारतीय जनता पार्टी देश को दशकों पीछे ले जाना चाहती है।

उन्होंने कहा कि नेताओं को अध्यक्ष पर भरोसा नहीं है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस ने महाराष्ट्र पर 15 साल शासन किया, लेकिन अब तीसरे नंबर की पार्टी बन गई है। जबकि, दिल्ली में यह कहीं नजर ही नहीं आती है। उनके लोग उन्हें छोड़कर जा रहे हैं। उनके (गुजरात) के कार्यकारी अध्यक्ष को अनौपचारिक अध्यक्ष में भरोसा नहीं है और वह छोड़कर चले गए।’

कांग्रेस की गुजरात इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने बुधवार को ट्विटर पर कांग्रेस छोड़ने का ऐलान किया। उन्होंने लिखा, ‘आज मैं हिम्मत करके कांग्रेस पार्टी के पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूं। मुझे विश्वास है कि मेरे इस निर्णय का स्वागत मेरा हर साथी और गुजरात की जनता करेगी। मैं मानता हूं कि मेरे इस कदम के बाद मैं भविष्य में गुजरात के लिए सच में सकारात्मक रूप से कार्य कर पाऊंगा।’

ज्ञानवापी मंदिर में AIMIM प्रमुख ने शीर्ष अदालत के आदेश का हवाला दिया। उन्होंने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि मुसलमान धार्मिक काम कर सकते हैं, जिसका मतलब है कि हम वहां वजू कर सकते हैं। यह एक फव्वारा है। अगर ऐसा होता है, तो ताज महल के सभी फव्वारों को बंद करा दें। भाजपा देश को 1990 के दौर में वापस ले जाना चाहती है, जब दंगे हुए थे।’

error: Content is protected !!