Breaking News
.

नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे पर अखिलेश का सीधा हमला, बोले- आखिरी समय पर काशी से अच्छी कोई और जगह नहीं ….

इटावा । नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे पर कटाक्ष करते हुए समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि अंतिम समय पर काशी से अच्छी जगह कोई और नहीं है, इसलिए प्रधानमंत्री को एक महीने के बजाय तीन महीने तक बनारस में रहना चाहिए। अपने पैतृक गांव सैफई मे सोमवार को पार्टी कार्यकर्त्ताओं से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में अखिलेश ने नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को लेकर कहा कि बहुत अच्छी बात है, वो जगह रहने वाली है, आखिरी समय में वहीं काशी में ही रहा जाता है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने एक डिप्टी सीएम को पैदल कर दिया और एक को स्टूल पर बैठा दिया। भाजपा की अंदरूनी लड़ाई की वजह से इन सबकी भाषा बदल रही है वो जानते है कि जनता उन्हें हटाने का काम कर रही है।

सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा ने किसानों और सिखों से घबरा कर और यूपी, पंजाब के चुनावों को लेकर कृषि कानूनों को वापस लिया है, अगर पहले लेते तो 700 किसानों की जान नहीं जाती, सपा सरकार आने पर आंदोलन में शहीद किसानों की 25 लाख से मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि भाजपा जो 5 ट्रिलियन इकॉनमी का सपना दिखा रही है वो चाहे तो प्रत्येक किसान को करोड़ों रुपये दे सकती है मगर भाजपा के लिए किसान नही बल्कि उनका वोट महत्वपूर्ण है। गरीबों को मुफ्त राशन दिया जा रहा है अच्छी बात है लेकिन क्या सरकार बताएगी। इस अन्न वितरण में जो अन्न बंट रहा है, इस भोजन के साथ लोगो को पर्याप्त न्यूट्रीशियन मिल पा रहा है।

अखिलेश ने कहा कि पिछले दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ ने इटावा में जिन कामों का उदघाटन किया था, वे सब सपा सरकार के कार्यकाल के थे। इटावा जेल का उद्घाटन होने के बाद अभी तक चालू की जा सकी। लायन सफारी एनिमल सफारी आज तक इंतजार कर रही है। वो चाहते हैं कि सीजेडए की परमिशन मिल जाए और लायन सफारी चलने लगे। जो विकास कार्य की गति थी रोक दी गई। इसी जगह पर देश का सबसे अच्छा एकोटक्सि सेंटर है लेकिन सरकार के पांच साल के रुख से पूरा का पूरा एकोटक्सि सेंटर पूरी तरह से बर्बाद हो गया। सैफई मे क्रिकेट स्टेडियम है जहां पर आईपीएल खेल हो सकते है। जो एक्सप्रेस वे बन रहे थे वह सपा शासनकाल के बनाए जा रहे थे।

अखिलेश ने कहा कि बिजली का बिल अब महंगा हो गया है। मुख्यमंत्री एटा में बिजली के कारखाना का नाम नहीं रट पाए क्योंकि एटा के बिजली के कारखाना का काम पूरा नहीं हो सका। इटावा में सरकार ने भेदभाव किया है। यहां के सारे विकास काम रोक दिए हैं और महंगाई का जवाब नहीं। खाद के लिए किसान लाइन में लगा है। सरकार जवाब नहीं दे पा रही है किसान को खाद व बिजली सस्ती की जरूरत है सरकार जरूरत पूरी नहीं कर पा रही है।

राशन वितरण प्रणाली पर सवाल उठाते हुए अखिलेश ने कहा कि पर्याप्त न्यूटीशियन गरीब को नहीं मिल रहा है। एक तरफ किसानों को सरसों की कीमत नहीं मिल रही है और दूसरी तरफ जब सरसों का तेल बन रहा है तो महंगा खरीदना पड़ रहा। दोहरी मार से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) किसानों को मार रही है। उन्होंने कहा कि अबकी बार जनता भारतीय जनता पार्टी को उत्तर प्रदेश से हटाने जा रही है। उत्तर प्रदेश में बदलाव होने जा रहा है क्योंकि इस सरकार में किसान नौजवान शक्षिक और व्यापारी और हर वर्ग के लोग इस सरकार में दुखी है।

error: Content is protected !!