Breaking News

डार्क जॉन समाप्त करते हुए प्रबोधक एवं तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादले करने की मांग….

पूर्व में 16463 वरिष्ठ अध्यापकों ने किए आवेदनों की तबादला सूची जारी करने मांग…

 

बीकानेर। शिक्षक संघ एलीमेंट्री सेकेंडरी टीचर एसोसिएशन (रेसटा) के प्रदेशाध्यक्ष मोहरसिंह सलावद ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को ज्ञापन भेजकर प्रतिबंधित क्षेत्र को हटाते हुए प्रबोधक एवं तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादले हेतू प्रक्रिया शुरू करने एवं पूर्व में तबादले के लिए 16463 वरिष्ठ अध्यापकों ने आवेदन किया उनकी सूची जारी करने की मांग की है।

संघ के कोषाध्यक्ष श्यामसुंदर बिश्नोई, प्रदेश सभाध्यक्ष काशी सारस्वत, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष मोहनलाल मीना ने ज्ञापन में बताया गया कि तृतीय श्रेणी शिक्षक व प्रबोधकों को स्थानांतरण से वंचित रखा गया है। राज्य में शिक्षा विभाग में लगभग 4 लाख 55 हजार के करीब कर्मचारी है जिनमे सर्वाधिक संख्या तृतीय श्रेणी शिक्षकों की है जो लंबे समय से तबादलों की बांट जा रहे हैं अब इनको स्थानांतरण से वंचित रखना न्याययोचित नहीं है। जबकि प्रधानाचार्य, एचएम व व्याख्याता के दो बार तबादले किए जा चुके हैं।

प्रतिबंधित (डार्क जॉन) और टीएसपी क्षेत्र के शिक्षक भी वर्षों से अपने गृह जिले में जाना चाहते हैं। संघ के जिलाध्यक्ष नारायण सिंह व जिला प्रवक्ता पवन शर्मा ने बताया कि पिछले सत्र में भी सरकार ने द्वितीय श्रेणी शिक्षकों के ऑनलाइन आवेदन ले लिए लेकिन स्थानांतरण नहीं हुए। इसलिए इनके पूर्व आवेदनों के आधार पर तबादले किए जाए साथ ही पूर्व में भी तृतीय श्रेणी शिक्षकों को स्थानांतरण से वंचित रखा गया जबकि तृतीय श्रेणी शिक्षक बरसों से स्थानांतरण की बाट जोह रहे हैं।

तृतीय श्रेणी शिक्षकों के भी घर परिवार है वह भी अपने गृह जिले में जाना चाहते हैं। इसलिए संगठन की मांग है कि पूर्व में वरिष्ठ अध्यापकों जिनसे ऑनलाइन आवेदन ले रखे है उनके आधार पर ही उनके तबादले किए जाएं। साथ ही डार्क जॉन व टीएसपी सहित तृतीय श्रेणी शिक्षकों के भी ऑनलाइन आवेदन लिए जाकर इनके भी स्थानांतरण किए जाए।

error: Content is protected !!