देश

एकनाथ शिंदे के ऑफिस में क्यों हुई भाजपा नेता की तैनाती, बना दिया OSD; सियासी गलियारों में होने लगी खुसर-फुसर …

मुंबई। महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार को दो महीने का वक्त बीच चुका है और अब नौकरशाही में फेरबदल की तैयारी है। इस बीच एक बड़ा फैसला यह हुआ है कि भाजपा (नरेंद्र मोदी) के प्रदेश उपाध्यक्ष आशीष कुलकर्णी को सीएम एकनाथ शिंदे के ओएसडी यानी ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी नियुक्त किया गया है। भाजपा (नरेंद्र मोदी) के एक सीनियर मिनिस्टर ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, ‘कुलकर्णी का अपॉइंटमेंट इसलिए किया गया है ताकि दोनों गठबंधन साझीदारों के बीच समन्वय बेहतर रहे।’ कुलकर्णी को देवेंद्र फडणवीस का करीबी नेता माना जाता है। भाजपा को विधान परिषद और राज्यसभा में अतिरिक्त सीट जिताने के प्लान में उनकी अहम भूमिका थी। जबकि, राजनीतिक विशलेषक इसे “बिल्ली के गले में घंटी बांधना” जैसा बता रहे हैं। उद्धव ठाकरे को “सुपरसीट” कर कुर्सी हथियाने वाले एकनाथ शिंदे पर करीबी नजर व अपनी मजबूत पकड़ बनाए रखने के लिए भाजपा ने एकनाथ शिंदे के ऑफिस में “गुप्तचर” नियुक्त कर दिया है।

अब चर्चा है कि अगले कुछ सप्ताह में महाराष्ट्र सरकार मुंबई, पुणे और नागपुर नगर निकायों के कमिश्नर बदल सकती है। मुंबई के कमिश्नर आईएस चहल को हटाने की तैयारी है, जिनकी कोरोना काल में अच्छे काम के लिए सराहना हुई थी। अब उनकी जगह पर नितिन करीर का नाम सबसे आगे चल रहा है। वह फिलहाल अडिशनल चीफ सेक्रेटरी (रेवेन्यू) हैं। हाल ही में भाजपा विधायकों ने चहल पर हमला बोलते हुए बीएमसी में करप्शन के आरोप लगाए थे। यही नहीं सरकार की ओर से अनियमितताओं की जांच के लिए भी आदेश दिए गए हैं।

इसके अलावा श्रवण हार्दिकर और संजीव कुमार को पुणे म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के कमिश्नर की रेस में आगे चल रहे हैं। एक अधिकारी ने कहा कि हर सरकार चाहती है कि वह अपने पसंद के अधिकारियों को ही रखे, जो अच्छे से काम में उसका सहयोग करें। अधिकारी ने कहा कि गणेश उत्सव के बाद अगले सप्ताह नौकरशाही में कुछ अहम बदलाव हो सकते हैं। यह दो चरणों में होगा ताकि कामकाज में किसी भी तरह की बाधा पैदा न होने पाए। दरअसल कई मंत्रालयों में अधिकारियों की कमी है या फिर एक ही अधिकारी के हवाले दो विभाग हैं। फडणवीस सरकार में अधिकारी रहे आईएएस प्रवीण दराडे और पराग जैन नेनुतिया को भी एकनाथ शिंदे सरकार में जिम्मेदारी दी जा सकती है।

Related Articles

Back to top button