मध्य प्रदेश

बीजेपी के आगर मालवा मंडल अध्यक्ष का रिश्वत लेते वीडियो वायरल

कांग्रेस ने ट्वीट कर भाजपा पर बोला हमला

भोपाल। मध्यप्रदेश के आगर मालवा जिले के कानड़ भाजपा मंडल अध्यक्ष का नोटों की गडि्डयों के साथ एक वीडियो वायरल हो रहा है। मंडल अध्यक्ष पर 5 लाख रुपए की रिश्वत लेने का आरोप लग रहा है। जिसकी पत्नी ने सुसाइड किया उसे पुलिस के झमेले से बचाने और ससुराल पक्ष के रुपए लौटाने के नाम पर रिश्वत लेने का आरोप लग रहा है। ये वीडियो कांग्रेस ने ट्वीट कर भाजपा पर हमला बोला है। हालांकि, ‘दिल्ली बुलेटिन’ इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

दरअसल, बंजारा समाज के एक युवक ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें कानड़ बीजेपी मंडल अध्यक्ष राजेश गोयल 500-500 रुपए के नोटों की गड्डियां लेते नजर आ रहे हैं। कहा जा रहा है कि ये रिश्वत उन्होंने युवक को पुलिस के झमेले से बचाने और ससुराल पक्ष के रुपए लौटाने के नाम पर ली। पीड़ित युवक ने मंडल अध्यक्ष को पैसे देते हुए एक वीडियो बना लिया था, जिसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया। बताया जा रहा है आगर मालवा जिले के अरनीखेड़ा निवासी अजय नायक पिता बने सिंह बंजारा की पत्नी ने सुसाइड कर लिया था। पुलिस केस से बचाने के लिए उसने भाजपा नेता राजेश गोयल से बात की थी। राजेश ने पुलिस और ससुराल पक्ष को देने के लिए अजय से 5 लाख रुपए की मांग की। इस पर  उसने राजेश को पहले 1 लाख 50 हजार रुपए दिए। इसके बाद बचे हुए रुपए भी दे दिए। इसके अलावा राजेश ने 75 हजार रुपए और मांगे। इस पर अजय और राजेश में विवाद हो गया।

सोशल मीडिया पर वीडियो सामने आने के बाद इस मामले को लेकर विवाद खड़ा हो गया। क्योंकि, पीड़ित युवक ने मंडल अध्यक्ष के खिलाफ शपथ पत्र देने के साथ ही लिखित शिकायत भी की है और वीडियो भी शेयर किया है। इस वजह से अब मंडल अध्यक्ष मुसीबतों में घिरे हुए हैं। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने अपने अकाउंट से ट्वीट कर इस वीडियो को लेकर भाजपा पर हमला बोला है। कांग्रेस ने लिखा- आगर में भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेश गोयल का 5 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल हुआ है। आवेदक अजय नायक ने आरोप लगाया कि मंडल अध्यक्ष ने इनकी पत्नी की आत्महत्या मामले में पुलिस की कार्रवाई से बचाने के लिए यह राशि ली है।

पहले दिए रुपए का हिसाब भी नहीं दिया

अजय ने बताया कि उसने पार्टी के ही किसी वरिष्ठ नेता से फोन पर राजेश की शिकायत की थी। वरिष्ठ नेता और अजय के बीच हुई बात का ऑडियो भी वायरल हुआ था। अजय का आरोप है कि राजेश ने ससुरालवालों को रुपए दिए या नहीं, इसकी भी उसे जानकारी नहीं है। वह उसे 5 लाख रुपए दे चुका है। इसके बाद भी वह 75 हजार रुपयों की और मांग कर रहा है। अजय ने नोटरी भी बनवाकर रखी है, जिसमें मंडल अध्यक्ष द्वारा परेशान करने की बात कही है।

मुझे बदनाम कर रहे : राजेश गोयल

इस संबंध में मंडल अध्यक्ष राजेश गोयल का कहना है कि वीडियो में मैं जो रुपए लेते दिख रहा हूं, वह रिश्वत नहीं है। वो रुपए तो अजय के ससुराल वालों को चुकाने के लिए थे। अजय और उसके ससुराल वालों का सामाजिक मामला था। उनके आपस के लेन-देन को 7-8 साल हो गए थे। मामला सुलझाने के लिए मेरे सहित उसके समाज के 15-20 लोग बैठे थे। अजय को उसके ससुरालवालों ने लगभग साढ़े चार लाख रुपए उधार दिए थे। 25 हजार रुपए अजय लौटा चुका था। राजेश ने कहा कि अजय के ससुराल पक्ष के लोग उससे ब्याज सहित पैसा मांग रहे थे, लेकिन सामाजिक बैठक होने के बाद 4 लाख 25 हजार रुपए (मूल राशि) लौटाने पर सहमति बनी थी। अजय से रुपए लेकर देने की जिम्मेदारी मुझे दी गई थी। इसके बाद उसने तीन लाख रुपए दिए थे। यह रुपए एक चौराहे पर समाज के लोगों की मौजूदगी में उसने मुझे दिए थे। मैं तो उसकी सामाजिक स्तर पर मदद कर रहा था। उसी लेन-देन का वीडियो वायरल हो रहा है। मुझे तो मदद करने के बदले बदनाम कर दिया है।

जिलाध्यक्ष चिंतामण राठौर बोले- जांच के बाद ही कुछ कह सकेंगे

वहीं, दूसरी ओर भाजपा जिलाध्यक्ष चिंतामण राठौर ने इस पूरे मामले में अपनी अनभिज्ञता जाहिर की है। उन्होंने कहा कि मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। वायरल हुए वीडियो और ऑडियो क्लिप की जांच और दोनों पक्षों से चर्चा करने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

Related Articles

Back to top button