लखनऊ/उत्तरप्रदेश

नेपाल के रास्ते 4.28 करोड़ रुपये की चरस की तस्करी करते तीन तस्कार धरे गए …

कानपुर। नेपाल के रास्ते चरस की बड़ी खेप की भारत में तस्करी करने के ममाले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। एसटीएफ कानपुर यूनिट ने बर्रा क्षेत्र से 85.60 किलो चरस के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। चरस का बाजार मूल्य 4.28 करोड़ रुपये है। एसटीएफ कानपुर प्रभारी शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि सूचना मिली थी कि नेपाल बॉर्डर से चरस की बड़ी खेप शहर आ रही है। इसकी सप्लाई कानपुर और आसपास के जिलों में होनी है। बर्रा के राम गोपाल चौराहा के पास से तीन लोगों को चरस के साथ गिरफ्तार कर लिया।

शैलेन्द्र ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में बरापेरू कुआं ढाबा रक्सौल निवासी रोशन पटेल, डी-49 बर्रा-8, कानपुर निवासी आशीष टक्कर और ईशा गार्डन जालौन चौराहा, औरैया निवासी शैलेन्द्र कुमार सोनी उर्फ शीलू शामिल हैं। एसयूवी, बाइक, दो हजार रुपये, 13500 नेपाली रुपये, ड्राइविंग लाइसेंस, तीन मोबाइल और सोनौली बॉर्डर से नेपाल में प्रवेश करने के लिए दो परमिट बरामद हुए हैं।

तस्करों ने भी पैसों का लेनदेन वॉलेट सिस्टम पर ट्रांसफर कर दिया है। एसटीएफ को ऐसे तमाम खातों और लेनदेन के बारे में जानकारी मिली है। बीते साल जांच के दौरान 22 बैंक खातों के बारे में जानकारियां मिली। जिसमें एक साल में 55 लाख रुपये के ट्रांजेक्शन हुए हैं। इसमें वॉलेट और ई बैकिंग का प्रयोग किया गया है।

Related Articles

Back to top button