नई दिल्ली

आपराधिक षड्यंत्र का हिस्सा थी जहांगीरपुरी हिंसा, दिल्ली पुलिस ने गृह मंत्रालय को सौंपी प्रारंभिक रिपोर्ट ….

नई दिल्ली । पुलिस प्रशासन की अनुमति के बिना निकाली गई जहांगीरपुरी हनुमान शोभा यात्रा की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट पुलिस ने गृह मंत्रालय को सौंप दी है। इस आरंभिक रिपोर्ट में पुलिस ने बताया है कि इस हिंसा को आपराधिक षड्यंत्र के तहत अंजाम दिया गया था।   

दिल्ली पुलिस ने रिपोर्ट में पूरे घटनाक्रम के बारे में पूरी डिटेल में जानकारी देते हुए यह भी बताया है कि अब तक क्या-क्या कार्रवाई की गई है। पुलिस ने हिंसा में शामिल अब तक 24 आरोपियों को गिरफ्तार करने के साथ ही कुछ हथियार भी बरामद किए हैं। दिल्ली पुलिस ने क्या-क्या एहतियाती कदम उठाए हैं रिपोर्ट में इसकी भी जानकारी दी गई है।

जानकारी के अनुसार, जहांगीरपुरी में शनिवार को हनुमान जयंती पर निकाली गई शोभायात्रा के दौरान पथराव के बाद दो समुदाय के लोगों के बीच हिंसा भड़क गई थी, जिसमें एक आम नागरिक और आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में अब तक दोनों समुदायों के 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और दो किशोरों को भी हिरासत में लिया गया है।

दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने सोमवार को बताया था कि हिंसा मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है और इसके लिए 14 टीमें बनाई गई हैं। अस्थाना ने कहा कि सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर कड़ी नजर रखी जा रही है और गलत सूचना फैलाने का प्रयास करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

बताया जा रहा है कि केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को दिल्ली पुलिस कमिश्नर को जहांगीरपुरी में हुई हिंसा मामले में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में 16 अप्रैल की घटना पर दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा उन्हें एक रिपोर्ट पेश किए जाने के बाद अमित शाह ने राकेश अस्थाना से बात की। घटना के बाद से अमित शाह और अस्थाना के बीच यह दूसरी टेलीफोन पर बातचीत है। गृह मंत्री ने शनिवार को अस्थाना और विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक से घटना पर बात की थी और उनसे कानून-व्यवस्था बनाए रखने को कहा था।

जहांगीरपुरी में तैनात इंस्पेक्टर राजीव रंजन के बयान के अनुसार, एफआईआर में कहा गया है कि शोभायात्रा शांतिपूर्ण तरीके से चल रही थी, शाम 6 बजे जब यह शोभायात्रा सी-ब्लॉक जामा मस्जिद के पास पहुंची तो अंसार नाम का एक शख्स अपने 4-5 अन्य लोगों के साथ वहां पहुंचा और शोभायात्रा में शामिल लोगों से बहस करने लगा। बहस ज्यादा बढ़ने के कारण दोनों पक्षों में पथराव शुरू हो गया। इसके चलते शोभायात्रा में भगदड़ मच गई।

Related Articles

Back to top button