लखनऊ/उत्तरप्रदेश

लखीमपुर खीरी के दोषियों को जमीन में गाड़कर पत्थरों से पीट-पीटकर मार देना चाहिए ….

लखीमपुर खीरी। समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन ने कहा है कि लखीमपुर खीरी केस के दोषियों को शरिया कानून के हिसाब से सजा देनी चाहिए। एसटी हसन ने कहा कि अगर रेप का दोषी मुसलमान है तो उसे सार्वजनिक जगह पर आधा जमीन में गाड़कर पत्थर मार-मारकर मार डालना चाहिए। एसटी हसन ने ये बात हाल ही में लखीमपुर खीरी इलाके में दो नाबालिग बहनों की रेप के बाद हत्या मामले को लेकर कही जिनकी लाश घर से करीब एक किलोमीटर दूर पेड़ पर लटकी मिली थी। मृतक युवतियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि गला घोंटकर हत्या करने से पहले उनके साथ बलात्कार किया गया था।

मृतक लड़कियों की मां ने आरोप लगाया था कि जब वो मवेशियों को चारा डालने गई थी तब तीन लड़के उनके घर पर मोटरसाइकिल से आए और उनकी बेटियों का अपहरण करके ले गए। उनके मुताबिक तीनों आरोपी पीले, सफेद और नीले रंग की टी-शर्ट में थे जिन्होंने जबरन उनकी बेटियों को बाइक पर बिठाया और फरार हो गए। बाद में दोनों युवतियों की लाश एक ही दुपट्टे से एक पेड़ पर टंगी मिली थी। इस घटना से इलाके में सनसनी फैल गई थी पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे।

पुलिस ने भी आनन फानन में घटना के आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली थी। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों की पहचान जुनैद, छोटू, करीमुद्दीन, सुहैल, आरिफ और हफीज-उर-रहमान के रूप में हुई है। हालांकि इस घटना को लेकर यूपी में सियासत भी गर्मा गई है। विपक्ष ने दो बहनों की हत्याओं को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के खिलाफ सवाल खड़े किए और यूपी की कानून व्यवस्था को कटघरे में खड़ा कर दिया। पूर्व सीएम और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा था कि “निघासन थाना क्षेत्र में दो दलित बहनों की अपहरण के बाद हत्या हो गई। पिता का पुलिस पर आरोप बेहद गंभीर है कि उन्होंने परिवार की सहमति के बिना पंचनामा और पोस्टमार्टम किया।

Related Articles

Back to top button