मध्य प्रदेश

जल स्रोतों के संरक्षण के लिए विशेष अभियान शुरू किया, शहर की 53 बावड़ी, 27 तालाब और कुओं को सफाई कराइ जाएगी

भोपाल
नगर निगम ने शहर के जल स्रोतों के संरक्षण के लिए विशेष अभियान शुरू किया है। यह अभियान 5 जून से शुरू होकर 15 जून तक चलेगा। इस दौरान शहर की 53 बावडी, 27 तालाब और कई कुओं की आवक चैनल की सफाई की जाएगी। साथ ही कान्ह और सरस्वती नदी और पर्यावरण संरक्षण के लिए काम किया जाएगा। नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री कैलाश विजयवर्गीय और महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने बुधवार को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जोन 1 के वार्ड 9 के अंतर्गत आने वाले कमला नेहरू नगर स्थित प्राचीन बावड़ी से इस अभियान का शुभारंभ किया। इस अवसर पर निगमायुक्त शिवम वर्मा, महापौर परिषद सदस्य अभिषेक शर्मा बबलू, अश्विनी शुक्ल सहित बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

मंत्री विजयवर्गीय ने दिया ये संदेश
इस अवसर पर विजयवर्गीय ने कहा कि जल ही जीवन है इसलिये इसके महत्व को समझना सभी के लिए जरूरी है। हमें संकल्प के साथ अधिक से अधिक पौधे भी लगाना है और इन पौधों का संरक्षण भी करना है ताकि इंदौर के गिरते भू-जल स्तर को रोका जा सकते और इंदौर का तापमान नियंत्रित रहे। पेड़ बहुत बड़ा वाटर रिचार्जर होता है। हम ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाएं और स्कूलों में बच्चों को पौधों के बीज दें और उन्हें पेड़ तैयार करने के लिए प्रेरित करें ताकि बच्चों का उस पौधे से भावनात्मक लगाव बना रहे। महापौर भार्गव ने कहा कि हमने आचार संहिता लागू होने के पहले ही वंदे जलम् अभियान शुरू करते हुए जल संरक्षण का काम शुरू कर दिया था।

तालाब की सफाई के होगा पौधरोपण अभियान
इस अभियान के तहत शहर के तालाब, बावडी, कुओं की सफाई की जाएगी और पानी की आवक चैनलों की सफाई की जाएगी। महापौर ने कहा कि हमें जल स्रोत संरक्षण अभियान के तहत इस प्रकार से काम करना है कि आने वाले समय में उक्त जल स्रोत से आस-पास के क्षेत्र के साथ ही पानी के टैंकर भी भरे जा सकें। जल स्रोतों के संरक्षण के साथ-साथ इंदौर में बड़े स्तर पर पौधरोपण अभियान चलाया जाएगा।

Back to top button