देश

रियासी हमला: आतंकियों की मदद करने वाला हकीम अरेस्ट, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने की पहली गिरफ्तारी

जम्मू-कश्मीर
जम्मू-कश्मीर के रियासी सेक्टर में पिछले दिनों बस पर हुए आतंकी हमले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। बुधवार को जम्मू और कश्मीर पुलिस ने आरोपी हकीम को अरेस्ट किया। हकीम पर आतंकियों की मदद करने का आरोप है। रियासी आतंकी हमले में यह गिरफ्तारी पहली है। रियासी की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मोहिता शर्मा ने कहा, "रियासी आतंकी हमले में एक व्यक्ति को औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर लिया गया है। वह मास्टरमाइंड नहीं है, लेकिन उसने हमले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।"

पुलिस के अनुसार, आरोपी हकीम दीन राजौरी का रहने वाला है और उस पर हमले के लिए आतंकवादियों को रसद मुहैया कराने का आरोप है। 9 जून को शिव खोड़ी से रियासी जिले के कटरा जा रहे तीर्थयात्रियों की बस पर पौनी इलाके के तेरयाथ गांव में आतंकवादी हमला हुआ था, जिसमें नौ लोगों की जान चली गई थी और 33 अन्य घायल हो गए थे। आतंकवादियों ने जंगलों के पीछे छिपकर बस पर कायराना हमला किया था, जिससे ड्राइवर घबरा गया और बस से नियंत्रण हट गया। आतंकियों की फायरिंग के बीच बस खाई में जा गिरी थी।

17 जून को गृह मंत्रालय ने आतंकी हमले का मामला राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दिया था। यह निर्णय केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय बैठक के दौरान लिया गया था, जिन्होंने सुरक्षा बलों और खुफिया एजेंसियों को जम्मू क्षेत्र में आतंकवाद के खिलाफ कश्मीर घाटी में हासिल की गई सफलताओं को दोहराने का निर्देश दिया था। पिछले हफ्ते, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने हमले में शामिल आतंकी का स्केच भी जारी किया था और उसकी जानकारी देने पर 20 लाख रुपये के इनाम का भी ऐलान किया गया था। पुलिस ने बताया था कि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ही आतंकी का स्केच तैयार किया गया।

 

Back to top button