मध्य प्रदेश

उज्जैन में दो घंटे रुकेंगे पीएम नरेन्द्र मोदी, शिप्रा किनारे मैदान पर होगी सभा ….

उज्जैन। प्रधानमंत्री 11 अक्टूबर को शाम 5.30 बजे उज्जैन आएंगे। वे महाकालेश्वर मंदिर में पूजन कर मंदिर प्रांगण का लोकार्पण करेंगे। पश्चात मोक्षदायिनी शिप्रा के किनारे कार्तिक मेला मैदान पर धर्मसभा को संबोधित करेंगे। वे करीब दो घंटे उज्जैन में रहेंगे। सभी 12 ज्योतिर्लिंग मंदिर परिसरों में लोकार्पण का लाइव प्रसारण दिखाने की विशेष व्यवस्था रहेगी।

यह बात प्रदेश के प्रदेश नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को मीडिया से कही। इसके पहले उन्होंने प्रदेश के वाणिज्य कर एवं जिले के प्रभारी मंत्री जगदीश देवड़ा, उच्च शिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव के साथ त्रिवेणी कला संग्रहालय सभाकक्ष में महाकालेश्वर कारिडोर के लोकार्पण कार्यक्रम और प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारी की समीक्षा की।

उन्होंने कलेक्टर आशीष सिंह से कहा कि लोकार्पण से पहले मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी एक-दो बार समीक्षा करने उज्जैन आएंगे। लोकार्पण समारोह भव्य हो। इसका अच्छे से प्रचार-प्रसार कराएं। पांच दिन पहले से उत्सव का माहौल बनवाएं। लोकार्पण समारोह के दिन सभी घरों में दीप जलें, सभी सार्वजनिक स्थानों पर विद्युत सज्जा हो, समारोह का हर घर निमंत्रण जाएं, ऐसे इंतजाम करें। मुख्यमंत्री की मंशा है कि कार्यक्रम के लिए संतों एवं प्रबुद्धजन की समिति बने। इसके अध्यक्ष वे खुद रहेंगे।

उच्च शिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव ने कहा कि इस साल दशहरे पर 5 अक्टूबर को महाकालेश्वर की सवारी भव्य तरीके से निकाली जाएगी। नजारा, शाही सवारी जैसा होगा। इसमें बहुत सारे बैंड, झांकियां और भजन मंडलियां होंगीं।

लोकार्पण से पहले पांच दिवसीय उत्सव अंतर्गत कवि सम्मेलन, संत सम्मेलन, महाकालेश्वर के उज्जैन में प्राकट्य पर आधारित महानाट्य का मंचन किया जाएगा। ख्यात गायकों की भजन संध्या होगी। सांसद अनिल फिरोजिया ने समारोह से आमजन को जोड़ने के लिए गांव-गांव से कलश यात्रा निकालने व महापौर मुकेश टटवाल ने सभी 54 वार्डों में सुंदरकांड पाठ कराने की बात कही।

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह आठ दिन में दूसरी बार उज्जैन आए। उन्होंने दोनों मर्तबा महाकालेश्वर मंदिर में पूजन किया, मगर महाकालेश्वर प्रांगण का अवलोकन न पहले किया था और न इस बार किया।

Related Articles

Back to top button