मध्य प्रदेश

लापरवाही: कूनो पालपुर नेशनल पार्क के बाड़े का गेट खुला छूटा, 2 और तेंदुए घुसे, 3 पहले से मौजूद …

भोपाल। मध्य प्रदेश के कूनो पालपुर नेशनल पार्क में मौजूद तेंदुए, कुव्यवस्था, वर्षा और बाढ़ चीता परियोजना के लिए बड़ी समस्या बनते जा रहे हैं। पार्क में चीता के लिए बनाए गए बाड़े में तीन तेंदुआ पहले से मौजूद हैं। दो तेंदुए हाल ही में बाड़े में प्रवेश कर गए। बाड़े में लगे सीसीटीवी कैमरे में घुसपैठ करने वाले तेंदुए कैद हुए हैं। बताया जा रहा है कि मजदूरों को बाड़े में प्रवेश कराते समय गेट खुला छूट गया था, जिससे ये तेंदुए अंदर चले गए।

चीता के बाड़े में नए तेंदुओं की घुसपैठ ने वन अधिकारियों की चिंता बढ़ा दी है। क्योंकि अधिकारियों को पांच सितंबर तक दोनों हेलिपैड सहित अन्य सभी तैयारियों पूरी करने को कहा गया है। पिछले दिनों पार्क के दौरे पर आए पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के महानिदेशक सीपी गोयल ने वन अधिकारियों से कहा है कि तीन दिन में तेंदुओं को बाड़े से बाहर करें, पर तेंदुओं को निकालने की कोई भी तरकीब काम नहीं आ रही है। भारतीय वन्यप्राणी संस्थान देहरादून के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. वायपी झाला सहित तीन डाक्टर और सैकड़ों कर्मचारियों की टीम सभी हथकंडे अपना चुकी है। पार्क में 20 पिंजरे लगाए हैं। पांच वाच टावर से नजर रखी जा रही है। कूनो, माधव नेशनल पार्क एवं वन्यप्राणी संस्थान देहरादून की एक- एक विशेषज्ञ टीम को ट्रंकुलाइजर गन के साथ तैनात किया है, ताकि तेंदुओं को बेहोश करके निकाला जा सके।

पीएम के हाथों 8 चीतों को रिलीज करने की तैयारी

नामीबिया व दक्षिण अफ्रीका से पिंजरों में कैद कर लाए जाने वाले करीब आठ चीतों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विशेष बाड़े में रिलीज (छोड़) कर सकते हैं। उनके आगमन के लिए पार्क में दो हेलिपैड बनाए जा रहे हैं। वन मंत्रालय के डीजी ने इन स्थानों का निरीक्षण किया है।

अब तेंदुओं को हाका देकर बाहर करने की कवायद

विशेष बाड़े में घूम रहे तेंदुओं को बाहर निकालने के लिए अब हाथियों का सहारा लिया जाएगा। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व से दो हाथी मंगवाए गए हैं। वहीं बाड़े की फेंसिंग से सटकर सीढ़ी नुमा स्ट्रेक्चर तैयार किया जा रहा है। अधिकारियों का मानना है कि हाथियों की मदद से तेंदुओं को हाका देकर इस स्थान पर लाएंगे और जब उन्हें कहीं और भागने की जगह नहीं मिलेगी, तो वे चढ़ाई पर चढ़कर जंप कर बाड़े से बाहर निकल जाएंगे।

यह बोले-प्रदेश के मुख्य वन्यप्राणी अभिरक्षक

सीसीटीवी कैमरे में कैद हकीकत के उल्ट प्रदेश के मुख्य वन्यप्राणी अभिरक्षक जेएस चौहान कहते हैं कि पहले से बाड़े में मौजूद तेंदुए ही फुटेज में दिखाई दे रहे हैं। बाड़े में प्रवेश के लिए दोहरे गेट बनाए हैं। जिन्हें ताला लगाकर रखा जाता है और इसकी चाबी कर्मचारियों के पास रहती है।

Related Articles

Back to top button