Breaking News

मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा- शादी-विवाह में ढिलाई से ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचा कोरोना, बिलासपुर, कोरबा, जांजगीर और पेंड्रा जिला सबसे अधिक प्रभावित ….

रायपुर। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव का कहना है कि कोरोना गांवों में पहुंच चुका है। शादी – विवाह के लिए सरकार की ओर से गाइडलाइन तय है लेकिन लोगों ने इसका कड़ाई से पालन नहीं किया। जिससे संक्रमण तेजी से फैला। ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में उन्हीं लोगों की मौत हो रही है जो इलाज में देरी कर रहे हैं। टेस्टिंग का कार्य पूरे प्रदेश में चल रहा है। इसे गांवों तक अभी ले जाना है।

स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने दिल्ली बुलेटिन से बातचीत में कहा कि प्रदेश में कोरोना नियंत्रण में तो है लेकिन गांवों में यह पहुंच चुका है, यह चिंता की बात है। पिछले वर्ष गांव के लोगों ने सख्ती बरती तब उसका असर यह हुआ कि प्रदेश के किसी भी ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना के कोई मरीज नहीं थे। उस समय दूसरे राज्यों से आने वाले लोग ही संक्रमित थे। गांव-गांव में लोग स्वत: बेरिकेट लगाकर बाहरी लोगों के आने जाने पर प्रतिबंध लगाए। इसका असर यह हुआ कि शत-प्रतिशत ग्रामीण कोरोना से सुरक्षित रहे। इस बार गांव के लोगों ने कोरोना को बहुत हल्के ढंग से लिया। कोरोना से बचाव के लिए जो सामान्य उपाय पहले से कर रहे थे उसमें भी लोगों ने ढिलाई की। पिछले दो माह में ग्रामीण क्षेत्रों में जमकर शादी-ब्याह हुए। इसी से ही कोरोना का फैलाव हुआ।

श्री सिंहदेव का कहना है कि ग्रामीण क्षेत्र में लोग कोरोना को जल्दी मात दे दे रहे हैं लेकिन जिन लोगों की मौत हो रही है उसका कारण इलाज में लेट-लतीफी करना है। जब संक्रमण बहुत अधिक फैल जा रहा है तब लोग अस्पताल आ रहे है। यह स्थिति शहरी क्षेत्र में भी है। उन्होंने कहा कि बिलासपुर सहित जांजगीर, कोरबा और पेंड्रा-मरवाही जिला में कोरोना संक्रमण अभी भी बहुत अधिक संख्या में है। इसका कारण शादी-ब्याह ही है। उन्होंने टेस्टिंग के संबंध में कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में टेस्टिंग का कार्य किया जा रहा है। हर गांव में लोगों की टेस्टिंग हो यह हम प्रयास कर रहे हैं।

 

error: Content is protected !!