मध्य प्रदेश

लोकायुक्तज एसआई को फरियादी की ननद बनाकर भेजा, थाने की प्रधान आरक्षक को रिश्वत लेते पकड़ा …

इंदौर। लोकायुक्त पुलिस ने मारपीट के एक मामले में आरोपी की जमानत के लिए दो हजार की रिश्वत लेते परदेशीपुरा थाने की प्रधान आरक्षक को पकड़ा है। आरोपी को प्रधान आरक्षक बने अभी तीन माह ही हुए हैं। लोकायुक्त की एक उप निरीक्षक को फरियादी महिला की ननद बनाकर भेजा गया था। उसी के हाथ से रिश्वत लेते ही जैसे ही प्रधान आरक्षक ने उसे थैंक्यू बोला, उसे पकड़ लिया गया।

लोकायुक्त एसपी सव्यसाची सराफ ने बताया कि सुभाष नगर निवासी प्रियंका शुक्ला की शिकायत पर परदेशीपुरा थाने की प्रधान आरक्षक अनिता सिंह को पकड़ा गया है। प्रियंका शुक्ला के पति सुरेन्द्र के खिलाफ उसकी जेठानी ने शिकायत की थी। जिसके बाद परदेशीपुरा थाने में कुछ दिन पहले मारपीट और अन्य जमानती धाराओं में केस दर्ज किया गया था। अनिता सिंह ने उनसे संपर्क कर थाने आकर जमानत करवाने के लिए कहा था। जब सुरेन्द्र और प्रियंका थाने पहुंचे तो वहां पर अनिता सिंह ने उनसे 5 हजार की रिश्वत की मांग की। इस पर दोनों ने लोकायुक्त कार्यालय आकर शिकायत की थी।

डीएसपी प्रवीण बघेल के अनुसार शिकायत के बाद दोनों को बात करने के लिए भेजा गया तो अनिता ने रिश्वत की राशि कम कर 3500 कर दी और उनसे हाथोंहाथ 1500 रुपये ले लिए। बुधवार दोपहर शेष राशि लेने के लिए अनिता ने उन्हें थाने ही बुलवा लिया। हमने हमारे यहां की उप निरीक्षक डाली गिरी को प्रियंका शुक्ला की ननद बनाकर भेजा।

अनिता ने उससे रुपये लेकर अपनी पेंट की बाईं जेब में रखे और उन्हें धन्यवाद कहा। इतना कहने के बाद डाली ने अपना परिचय दिया और बाहर खड़ी टीम को अंदर बुला लिया। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। लोकायुक्त पुलिस केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Related Articles

Back to top button