Breaking News

कोरोना का असर : राजधानी रायपुर, कोरबा और राजनांदगांव फिर इतने दिनों के लिए लॉक, नई गाइडलाइन्स जारी …

रायपुर । छतीसगढ़ के अधिकतर जिलों में सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है। कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। सबसे अधिक संक्रमित केस रायपुर, कोरबा और राजनांदगांव से सामने आ रहे हैं। इसे देखते हुए रायपुर में एक सप्ताह, कोरबा में पांच दिन और राजनांदगांव में लॉकडाउन को आगे बढ़ाया गया है। कोरबा जिले में कोरोना संक्रमण से आमजनों की सुरक्षा को देखते हुए पूर्ण तालाबंदी अब 27 अप्रैल की रात 12 बजे तक रहेगी। जिला दण्डाधिकारी श्रीमती किरण कौशल ने इस संबंध में संशोधित आदेश भी जारी कर दिया है।

वहीं रायपुर में लॉकडाउन एक सप्ताह बढ़ गया है। यानी 26 अप्रैल तक राजधानी फिर लॉक हो गया है। रायपुर में में व्यवसायिक गतिविधियों पर अधिरोपित प्रतिबंधों और सम्पूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। कोविड-19 पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या और इस महामारी से होने वाली मौतों की संख्या चिंता का विषय है, जिससे सम्पूर्ण रायपुर जिले में कंटेनमेंट जोन की अवधि बढ़ाया जाना आवश्यक हो गया है।

रायपुर जिले की सभी सीमाएं पूर्णतः सील रहेंगी। सभी अस्पताल, मेडिकल दुकानें, क्लिनिक और पशु-चिकित्सालय को उनके निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी। मेडिकल दुकान संचालक मरीजों के लिए दवाओं की होम डिलीवरी को प्राथमिकता देगें। शासकीय उचित मूल्य दुकानों को खाद्य नियंत्रक रायपुर द्वारा निर्धारित समयावधि में खुलने की अनुमति होगी।

कोरबा में लॉकडाउन अवधि के दौरान जिले के शासकीय और अशासकीय बैंक प्रातः 11 बजे से दोपहर दो बजे तक खुले रहेंगे। सभी बैंक संस्थान अपने न्यूनतम आवश्यकतानुसार कर्मचारियों-अधिकारियों का उपयोग करते हुए केवल कार्यालयीन कार्य ही संचालित करेंगे। बैंको में ग्राहक, खातेदार या आम लोगों का प्रवेश पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। बैंक द्वारा संचालित एटीएम में पर्याप्त मात्रा में मुद्रा की उपलब्धता बैंक प्रबंधन द्वारा सुनिश्चित की जाएगी।

Check Also

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की बड़ी घोषणा : पत्रकारों, वकीलों तथा उनके परिजनों को भी फ्रंट लाईन वर्कर के समान टीकाकरण में मिलेगी प्राथमिकता …

रायपुर (गुणनिधि मिश्रा) । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण …

error: Content is protected !!