छत्तीसगढ़रायपुर

राज्यपाल से जे.सी.आई. के प्रतिनिधिमण्डल ने की भेंट, शैक्षणिक उपाधि के साथ-साथ व्यक्तित्व विकास भी बेहद जरूरी- राज्यपाल उइके

रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने कहा कि लोगों का कार्य, उनके व्यक्तित्व पर निर्भर करता है। युवा हमारे देश के भविष्य हैं। उनके व्यक्तित्व एवं कौशल विकास की दिशा में लगातार कार्य करने की आवश्यकता है ताकि वे बेहतर कल का निर्माण कर सकें। उन्होंने कहा कि संगठन द्वारा राज्य के युवाओं के व्यक्तित्व विकास का कार्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन ला सकता है। राज्यपाल ने जे.सी.आई. संस्था द्वारा इस दिशा में किये जा रहे प्रयास को सराहनीय बताया।

राज्यपाल अनुसुईया उइके से आज यहां राजभवन में जेसीआई रायपुर के चेयरमेन राजेश अग्रवाल के नेतृत्व में जेसीस ऑफ सुपर चैप्टर 2023 के नवनियुक्त अध्यक्ष सह प्रतिनिधिमण्डल ने मुलाकात की। राज्यपाल उइके ने जे.सी.आई. के सदस्यों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं दीं। साथ ही नवनियुक्त अध्यक्षों को भी बधाई एवं शुभकामनाएं दीं।

राज्यपाल उइके ने प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों से अपने जीवन के अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि किस तरह उन्होंने प्राध्यापक से राज्यपाल बनने तक का सफर तय किया। चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि बतौर प्राध्यापक उन्होंने किस तरह संसाधनों के अभाव में भी शिक्षण कार्य किया। प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय महिला आयोग और राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग में कार्य करने का अनुभव उनके जीवन का स्मरणीय समय रहा।

व्यक्तित्व विकास पर बात करते हुए राज्यपाल उइके ने कहा कि लोग बड़ी-बड़ी डिग्रियां ले लेते हैं, अच्छे नंबरों से पास हो जाते हैं, परन्तु व्यक्तित्व विकास न होने से उनका आचार-विचार और संस्कार प्रभावपूर्ण नहीं होता। व्यक्तित्व विकास से आत्मविश्वास बढ़ता है फलस्वरूप कार्यक्षमता बढ़ती है। राज्यपाल ने जेसिस द्वारा व्यक्तित्व विकास के लिए किये जा रहे कार्य को युवाओं के लिए मददगार बताया। उन्होंने कहा कि जेसीस यह भी प्रयास करें कि ग्रामीण अंचलों में लोगों का किस तरह से विकास किया जाए ताकि वे मुख्यधारा से जुड़कर समाज निर्माण में उल्लेखनीय योगदान दे पाएं। साथ ही उन्होंने कहा कि जेसीस राज्य के विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में विद्यार्थियों से जुड़कर उनके व्यक्तित्व विकास में सहभागी बनें।

राज्यपाल अनुसुईया उइके ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर केंद्र सरकार द्वारा भी युवा विकास के अनेक कार्यक्रम प्रारंभ किए गए हैं। साथ ही राज्यपाल ने जे.सी.आई. के सदस्यों को प्रधानमंत्री टी.बी. मुक्त अभियान के बारे में बताया कि टी.बी. उन्मूलन के लिए केन्द्र सरकार कृत संकल्पित होकर कार्य कर रही है। किन्तु टी.बी के संबंध में आम जनता में जागरूकता बेहद आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जे.सी.आई. को इस संबंध में जनजागरूकता के लिए आगे आना चाहिए। जेसीआई ने इस संबंध में सहयोग की बात कही।

इस अवसर पर जेसीस छत्तीसगढ़ के चेयरमेन राजेश अग्रवाल ने राज्यपाल से सभी नवनियुक्त अध्यक्षों का परिचय कराया। अग्रवाल ने जेसीस के द्वारा किये जा रहे कार्यों की भी जानकारी दी। प्रतिनिधिमण्डल ने राज्यपाल उइके को बैज, मेडल व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

Related Articles

Back to top button