प्रेमिका ने परिवार के साथ मिलकर दिया था हत्या की घटना को अंजाम

4

नरईबोध हत्याकांड का कोरबा पुलिस ने किया खुलासा

कोरबा। पुलिस ने कुसमुंडा के नरईबोध हत्याकांड का खुलासा किया है. क़त्ल के इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने वाली प्रेमिका फूलबाई उर्फ़ नन्ही गुड्डी पिता घसियाराम पति रामलखन चौहान (30), गुलाबबाई पति घासीराम चौहान (60) व इनके भाई रामकुमार चौहान पिता घसियाराम चौहान (28) को कड़ी पूछताछ के बाद न्यायिक रिमांड हेतु भेज दिया गया है. तीनो ने ही पुलिस की पूछताछ में अपना गुनाह कबूल लिया है.

इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने कत्ल के इस वारदात पर पर्दा डालने की भरसक कोशिश की थी. यहाँ तक जिस रूमाल से महेंद्र पाल का मुँह दबाया गया था उसे भी सिगड़ी की आग में झोंक दिया था बावजूद उनकी यह कारगुजारी ज्यादा दिनों तक नहीं छिप सकी और वह क़ानून के हत्थे चढ़ गए. तीनो ही आरोपी के खिलाफ कुसमुंडा पुलिस ने अपराध क्रमांक 462/19 भादवि की धारा 302, 201 व 34 के तहत मामला कायम कर लिया है. उन्होंने ने इस पूरी घटना को पिछले 13 नवम्बर की रात 9 बजे अंजाम दिया था. हालांकि पुलिस को संदेह था की महेंद्र प्रताप की मौत पानी में डूबने से हुई है लेकिन पीएम रिपोर्ट में यह बात साबित हो गई की ह्त्या की नियत से महेंद्र का मुँह, नाक दबाया गया था. जिसके बाद उस पर लाठी से भी वार हुआ था. वही कुंए में डालने से पहले ही उसकी सांसे थम गई थी. इस तरह 5 से 6 दिनों तक लाश कुंए में पड़ी रही.