छत्तीसगढ़मुंगेली

बिलासपुर में फैल रहा डायरिया, आयुक्त अजय त्रिपाठी ने दिया प्रभावित क्षेत्रों के पुरानी पाइप लीकेज मरम्मत कराने का आदेश …

बिलासपुर। बिलासपुर में बेकाबू हो रहे डायरिया से प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए हैं। डायरिया संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए नगर निगम आयुक्त ने 8 जोन के आयुक्त को नई जिम्मेदारी सौंपी है। इसे लेकर नगर निगम अब जमीनी स्तर पर उतर आया है और मुनादी कराकर लोगों में जागरूकता लाने के साथ ही पीने का पानी गंदा होने पर इसकी शिकायत विभाग से करने की मुनादी कर रहा है। जिसके तहत बस्ती में पाइप लाइन लीकेज मरम्मत, नाली से गुजरी पाइप लाइन की आवश्यकत मरम्मत, क्लोरीन टेबलेट वितरण और बीमारी के रोकथाम के लिए जागरूकता मुनादी के निर्देश दिए हैं।

नगर निगम आयुक्त अजय कुमार त्रिपाठी के निर्देश के बाद तत्काल कार्रवाई करते हुए जल शाखा ने तालापारा, तारबहार, जरहाभाटा मिनी बस्ती, मरीमाई मंदिर रोड एवं टिकरापारा के कंसा चौक क्षेत्र में कुल 13 स्थानों पर पुरानी जीआइ पाइप लाइन को बंद करवाया है। यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी। इसके अलावा मरीमाई मंदिर के आसपास और मिनी बस्ती जरहाभाठा क्षेत्र से पाइपलाइन और नलकूप के आठ पानी के सैंपल भी जांच के लिए लिए गए।

इससे पहले भी आयुक्त के निर्देश पर अमृत मिशन पार्ट 2 के कार्यपालन अभियंता अनुपम तिवारी और जल शाखा के प्रभारी अजय श्रीवासन के द्वारा वार्ड क्रमांक 26 मरीमाई क्षेत्र का संयुक्त निरीक्षण किया गया और अमृत मिशन अंतर्गत जोड़ी गई पाइप लाइन व जल संयोजन के आधार पर क्षेत्र में पूर्व में बिछाई गई जीआइ पाइप लाइन को एहतियात के तौर पर बंद किए जाने की कार्रवाई के लिए चिन्हांकित किया गया है।

डायरिया प्रभावित तालापारा, तारबहार, मरी माई मंदिर क्षेत्र, मिनी बस्ती व टिकरापारा कंसा चौक के क्षेत्रों को छोटे-छोटे जोन में विभाजित कर नगर निगम के जोन आयुक्त, सहायक अभियंता, उप अभियंता, सहायक राजस्व निरीक्षक, नगर निगम स्वास्थ्य विभाग चिकित्सक व मितानिनों के माध्यम से डोर टू डोर सर्वे कर क्लोरीन टेबलेट का वितरण कराया जा रहा है और जन जागरूकता के लिए मुनादी कराई जा रही है।

Related Articles

Back to top button