नई दिल्ली

नमाज के दौरान मस्जिद में बम धमाका, 10 की मौत; 40 घायल, सरकारी एजेंसियां जुटी जांच में ….

नई दिल्ली। गुरुवार को उत्तरी अफगानिस्तान के मजार-ए-शरीफ शहर में एक शिया मस्जिद में हुए शक्तिशाली विस्फोट में कम से कम 10 नमाजियों की मौत हो गई और 40 अन्य घायल हो गए। मजार-ए-शरीफ के मुख्य अस्पताल के प्रमुख डॉ. घौसुद्दीन अनवारी ने बताया कि मृतकों और घायलों को एम्बुलेंस और निजी कारों में लाया गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तरी मजार-ए-शरीफ में साईं डोकेन मस्जिद में विस्फोट उस समय हुआ जब मुस्लिम रमजान के पवित्र महीने में नमाज अदा कर रहे थे।

बल्ख प्रांत के सूचना और संस्कृति विभाग के प्रमुख जबीहुल्लाह नूरानी का हवाला देते हुए बताया कि प्रारंभिक रिपोर्टों से पुष्टि होती है कि कम से कम 25 लोग हताहत हुए हैं। मजार-ए-शरीफ में तालिबान कमांडर के प्रवक्ता मोहम्मद आसिफ वजेरी ने बताया, “जिले में एक शिया मस्जिद के अंदर विस्फोट हुआ, जिसमें 20 से अधिक लोग मारे गए और घायल हो गए।” गौर करने वाली बात यह है कि अभी तक किसी भी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

यह घटना पश्चिमी काबुल के एक हाई स्कूल में तीन विस्फोटों के बाद हुई है, जिसमें कम से कम छह लोग मारे गए थे और बच्चे घायल हो गए। पीड़ित लोग शिया हजारा समुदाय के हैं, जो एक जातीय और धार्मिक अल्पसंख्यक है जिसे अक्सर इस्लामिक स्टेट सहित सुन्नी आतंकवादी समूहों द्वारा निशाना बनाया जाता है।

जब से तालिबान शासन ने अफगानिस्तान पर नियंत्रण किया है, देश में विस्फोट और हमले होना एक नियमित मामला बन गया है। एक अन्य घटना के साथ काबुल में दिन में दो बच्चे घायल हुए थे। टोलोन्यूज ने आंतरिक मंत्रालय के हवाले से ट्वीट किया, “विस्फोट काबुल शहर के पुलिस जिला 5 के कंबार चौक में हुआ।”

Related Articles

Back to top button