छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में पकड़ाए बिहारी तस्कर कबाड़ी ने लीज पर लेकर 300 ट्रक करवाए गायब

मुजफ्फरपुर.

मुजफ्फरपुर समेत उत्तर बिहार के कई जिले के 300 से अधिक ट्रकों को लीज पर लेकर गायब करने के आरोपी सत्येंद्र सिंह को सदर पुलिस ने रिमांड पर लिया है। आपको बता दें उसको प्रोडक्शन पर मुजफ्फरपुर लाने के लिए सदर थाने की पुलिस छत्तीसगढ़ आज मंगलवार को शाम में पहुंच गयी है। अब वहां के कागजी प्रक्रिया पूरी करने के बाद सत्येंद्र सिंह को मुजफ्फरपुर जिले में लाया जाएगा।

आपको बता दें कि सत्येंद्र सिंह मूल रूप से सदर थाना क्षेत्र के भगवानपुर यादव नगर का रहने वाला है और सिर्फ सदर थाने में उसके खिलाफ ट्रक लीज पर लेकर गायब करने को लेकर 50 से अधिक प्राथमिकी दर्ज है। फिलहाल वह छत्तीसगढ़ की जेल में बंद है।

ट्रकों को ऐसे लाया जाता था एक राज्य से दूसरे राज्य में
दरअसल आरोपी सत्येंद्र सिंह के द्वारा ट्रक को लीज पर लेकर उक्त ट्रक का चेचिस नंबर बदलकर यानी फर्जीवाड़ा कर अन्य लोगो को बेच देता था। यही नहीं बल्कि वही गाड़ियों को फर्जी दस्तावेज तैयार करता था और दूसरे ओनर के हाथ में बेच दिया करता था ताकि इसकी जानकारी किसी को न हो सके और किसी को शक भी नहीं हो। छत्तीसगढ़ की पुलिस ने इस मामले में कई लोगो को पकड़ा था जिसमे RTO का कर्मचारी भी शामिल था। इसके बाद  बाद एक बड़े गिरोह के उद्भेदन के मामले में मुख्य आरोपी सत्येंद्र सिंह को पकड़ा गया।

गिरोह में शामिल ट्रक संचालक सहित DTO,RTO के कई लोग
छतीसगढ़ राज्य की पुलिस के हत्थे दुबारा चढ़े सत्येंद्र सिंह के इस फर्जीवाड़े के काम में कई ट्रक के संचालक के साथ ही RTO DTO डिपार्टमैन के लोग शामिल रहे हैं। मुजफरपुर में अब तक केवल सदर थाना में 50 से अधिक ट्रक मालिको ने लीज पर दिए गए ट्रक को गायब करने को लेकर सत्येंद्र सिंह के खिलाफ कार्रवाई के लिए प्राथमिकी दर्ज कराई है।यही नहीं बल्कि सत्येंद्र के द्वारा इस फर्जीवाड़ा मामले में इसके साथ कई लोग भी शामिल है जिसमे ट्रक के संलाचक सहित RTO और DTO के लोग भी है। चूंकि ट्रक की टेंपरिंग और चेसिस नंबर के साथ छेड़छाड़ करना और नंबर बदल देना बिना विभाग के लोगो की संभव नहीं है। इसलिए छत्तीसगढ़ पुलिस ने इस मामले में सत्येंद्र सिंह सहित कई को पकड़ा था।

सिटी एसपी ने बताया मामला को गंभीर, जल्द लाया जायेगा मुजफ्फरपुर
आरोपी सत्येंद्र सिंह से गहन पूछताछ के बाद पुलिस टीम को इस केस में महत्वपूर्ण साक्ष्य हासिल हो सकते हैं।मामले में सिटी SP अवधेश दीक्षित ने सत्येंद्र सिंह को रिमांड पर लेने की पुष्टि करते हुए बताया है कि जिला पुलिस की एक टीम छत्तीसगढ़ पहुंच चुकी है और अब कागजी प्रक्रिया पूरी होने के बाद आने वाले दिनों में उसको यहां लाया जाएगा और इस जिसके बाद आरोपी से पूछताछ की जाएगी। सत्येंद्र अब तक मुजफ्फरपुर पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाया है। अब इस मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button