मध्य प्रदेश

दवाइयों के साथ ही पोषक आहार का भी नियमित सेवन करें, कैंसर से लड़ाई में पीड़ित अकेले नहीं हम उनके साथ: राज्यपाल

राज्यपाल ने जवाहरलाल नेहरू कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र के स्थापना दिवस कार्यक्रम को किया संबोधित

भोपाल। राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि कैंसर से ग्रस्त रोगियों को यह एहसास दिलाएँ कि भले ही बीमारी से वे अकेले लड़ रहे हैं, लेकिन मानसिक तौर पर उनके साथ हम भी खड़े हैं। उन्होंने कहा कि कैंसर पीड़ित दवाइयों के नियमित सेवन के साथ ही पोषक आहार का भी नियमित सेवन करें। राज्यपाल श्री पटेल आज जवाहरलाल नेहरू कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र के स्थापना दिवस कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।
राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि एडवांस चिकित्सा पद्धति द्वारा सामान्यतः कैंसर का इलाज संभव है लेकिन हम असाध्य कैंसर से पीड़ित को असहाय महसूस न होने दें। उन्होंने कहा कि अक्सर देखा गया है कि बीमारी के इलाज के लिए लोग दवाई खाते हैं लेकिन आहार में सही बदलाव नहीं करते हैं। इस कारण से शरीर और भी तेज़ी से कमज़ोर होने लगता है। पोषक आहार और नियमित रूप से व्यायाम से इस ख़तरनाक बीमारी को रोका जा सकता है।
राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि कई साल पहले समाज के उत्थान एवं मानव सेवा का भाव मन में रख कर जवाहरलाल नेहरू कैंसर अस्पताल के रूप में यह बीज बोया गया था। उन्होंने कहा कि अस्पताल न सिर्फ कैंसर के उपचार बल्कि उसकी रोकथाम के लिए भी अग्रसर है। कैंसर से बचाव और रोकथाम के बारे में जागरूकता के लिए स्वास्थ्य संगठन के साथ ही गैर सरकारी संगठनों एवं आमजन को आगे आना होगा। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि अस्पताल में रेडियोथेरेपी, कीमोथेरेपी और शल्य चिकित्सा से नवीनतम एवं श्रेष्ठ उपकरणों द्वारा कैंसर का उपचार किया जाता है। उन्होंने कहा कि स्तन, गर्भाशय और फेफड़े के कैंसर का विशेष विधि द्वारा ऑपरेशन कर मरीजों को कैंसर मुक्त बनाने में अस्पताल का योगदान सराहनीय है। राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के वर्ष 2025 तक टी. बी. के उन्मूलन के संकल्प को सिद्ध करने के लिए किए जा रहे राज्य सरकार के प्रयास सराहनीय हैं। भारत सरकार आयुष्मान भारत योजना में बेहतर चिकित्सकीय सुविधाएँ और मुफ्त इलाज प्रदान करने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है। कार्यक्रम में आयुक्त भोपाल संभाग मालसिंह भयड़िया, आयुक्त नगर निगम भोपाल के. वी. एस. चौधरी एवं प्रबंध निदेशक जवाहरलाल नेहरू कैंसर अस्पताल श्रीमती दिव्या पाराशर उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button