नई दिल्ली

सोशल मीडिया पर IS के नाम पर बनाया अकाउंट: भोपाल-रायसेन में एनआईए की छापेमारी, दो संदिग्धों से पूछताछ …

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने सोमवार को बताया कि केंद्रीय एजेंसियों ने भोपाल और रायसेन के दो लोगों से पूछताछ की है। ये कथित तौर पर सोशल मीडिया पर इस्लामिक स्टेट के नाम पर समूह बनाने में शामिल थे। उन्होंने कहा कि पूछताछ के बाद दोनों को छोड़ दिया गया और एजेंसियों ने उनके मोबाइल फोन और लैपटॉप के क्लोन तैयार किए हैं।

इससे एक दिन पहले, राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने आतंकी समूह आईएसआईएस की गतिविधियों के एक मामले में भोपाल और रायसेन जिलों में तलाशी ली और आपत्तिजनक दस्तावेज और सामग्री जब्त की थी। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री से जब एनआईए पूछताछ को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ये लोग टेलीग्राम पर आईएसआईएस के नाम से ग्रुप बनाने में कथित तौर पर शामिल थे।

उन्होंने कहा, ‘केंद्रीय एजेंसियों ने दो संदिग्धों मोहम्मद अनस और मोहम्मद जुबैर से पूछताछ की थी। एजेंसी ने उनके मोबाइल फोन और लैपटॉप के क्लोन तैयार किए हैं। इस कार्रवाई का राज्य से कोई लेना-देना नहीं है। ये लोग टेलीग्राम पर आईएसआईएस के नाम से ग्रुप बनाने में कथित तौर पर शामिल थे।’ उन्होंने कहा कि अनस और जुबैर को पूछताछ के बाद रिहा कर दिया गया।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने कहा कि एनआईए ने आईएसआईएस मॉड्यूल और बिहार के फुलवारीशरीफ मामलों के संबंध में मध्य प्रदेश के रायसेन, भोपाल और सिलवानी जिलों सहित छह राज्यों के 13 स्थानों की तलाशी ली है। इसपर विस्तार से पूछे जाने पर गृह मंत्री ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियां राज्य के साथ सूचना साझा नहीं करती हैं। उन्होंने कहा, ‘यहां साझा की गई जानकारी राज्य एजेंसियों की मदद से एकत्र की गई हैं। हम सभी पुलिस थानों को सतर्क करेंगे और घर के मालिकों से ऐसे संदिग्धों के बारे में स्थानीय पुलिस को सूचित करने के लिए कहेंगे।’

Related Articles

Back to top button