Uncategorized

राजस्थान के अलवर में जूते पहनकर बुलडोजर से तोड़ा गया 300 साल पुराना मंदिर, भाजपा बोली- जहांगीरपुरी का बदला ले रही है कांग्रेस ….

अलवर। राजस्थान के अलवर में 300 साल पुराने मंदिर को बुलडोजर से तोड़े जाने को लेकर प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस और भाजपा आमने-सामने आ गई है। अलवर में सराय गोल चक्कर के पास मंदिर में पहले मूर्तियों को कटर से काटा गया और फिर मंदिर को बुलडोजर से ढहा दिया गया। इससे गहलोत सरकार भाजपा के निशाने पर आ गई है। इस मामले को लेकर नगरपालिका के ईओ, एसडीएम के साथ ही राजगढ़ विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने को लेकर तहरीर दी गई है। हालांकि अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं हुई है।

जानकारी के मुताबिक, अलवर में डेवेलपमेंट मास्टर प्लान के तहत राजगढ़ कस्बे के गोल सर्किल से मेला का चौराहा के बीच रास्ते में बाधा बने दुकानों और मकानों को ध्वस्त करने को लेकर रविवार को बुलडोजर चलाया गया। इस दौरान मंदिर को भी गिरा दिया गया। सोशल मीडिया पर इस विध्वंसीकरण के वीडियो भी तेजी से वायरल हो रहे हैं। शिवालय में जूते पहने कर्मचारियों पर भी हिंदूवादी संगठनों का गुस्सा फूट रहा है।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनीयां ने कहा कि 300 साल पुराना मंदिर अतिक्रमण कैसे हो सकता है। भाजपा अपनी एक टीम मौके पर भेज रही है, जो तीन दिन में अपनी रिपोर्ट देगी। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि विकास के नाम पर भगवान के मंदिर पर प्रहार करना बेहद दुखद है। उन्होंने इसे लेकर राहुल गांधी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि वह बदले की भावना के साथ वोट बैंक की पॉलिटिक्स को आगे बढ़ा रहे हैं।

मामले को लेकर भाजपा आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय ने ट्वीट के जरिये कांग्रेस की गहलोत सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने लिखा, ‘राजस्थान के अलवर में विकास के नाम पर तोड़ा गया 300 साल पुराना शिव मंदिर… करौली और जहांगीरपुरी पर आंसू बहाना और हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुंचाना- यही है कांग्रेस का सेक्युलरिज्म।’ इसके बाद एक और ट्वीट में मालवीय ने कहा कि 18 अप्रैल को बिना नोटिस प्रशासन ने 85 हिंदुओं के पक्के मकानों पर दुकानों पर बुलडोजर चलाया था।

भाजपा के एक अन्य नेता नवीन कुमार जिंदल ने कहा, ‘जिस प्रकार मुगलों ने हिन्दू मंदिरो को तोडा उसी प्रकार 10 जनपथ के फरमान के बाद राजस्थान के अलवर में अशोक गहलोत 300 साल पुराने मंदिर में से ड्रील करवाके शिवलिंग को उखड़वा रहे हैं। पापियों भगवान से डरो..’।

दूसरी तरफ भाजपा के आरोपों को कांग्रेस ने पूरी तरह से नकार दिया है। गहलोत सरकार के मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि भाजपा नेता झूठ फैला रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘राजगढ़ में नगरीय निकाय बोर्ड के चेयरमैन ने प्रस्ताव लाकर चौड़ीकरण कराया, जिसके चलते मंदिर और मकान गिराए गए।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कोई कानूनी दिक्कत नहीं हुई तो दोबारा से मंदिर को बनवाया जाएगा।

Related Articles

Back to top button