Breaking News
.

मिस्टर वॉल को टीम इंडिया का हेड कोच बनाने में बेटे ने निभाई खास भूमिका…

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ के हेड कोच बनने और उनके बेटे को लेकर एक खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि द्रविड़ के बेटे का उनके पास फोन आया था। फोन पर बेटे ने गांगुली से अपने पिता की सख्ती को लेकर बात की थी। गांगुली की मानें तो द्रविड़ के टीम इंडिया के हेड कोच बनने में उनके बेटे की भी अहम भूमिका रही है।

शारजाह में 3 से 13 नवंबर 2021 के बीच 40वें शारजाह अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले का आयोजन किया गया था। इस दौरान बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ की नियुक्ति पर भी बात की। उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा, ‘मेरे पास राहुल द्रविड़ के बेटे का फोन आया था। उसने मुझे बताया कि उनके पिता राहुल उनके साथ बहुत सख्त हैं और उन्हें दूर करने की जरूरत है। इसके बाद में मैंने राहुल (द्रविड़) को फोन किया और उनसे कहा कि उनके लिए राष्ट्रीय टीम में शामिल होने का समय आ गया है।’

कोलकाता में जन्में और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान ने यह भी खुलासा किया कि कोचिंग की नौकरी के बारे में राहुल द्रविड़ के साथ संवाद करना उनके लिए आसान था, क्योंकि वर्षों से उनकी दोस्ती बरकरार है। गांगुली ने कहा, ‘हम एक साथ बड़े हुए, लगभग एक ही समय में शुरुआत की और ज्यादातर समय एक साथ खेलने में बिताया। ऐसे में हममें से कुछ के लिए उन्हें स्वागत और चाहने का अहसास कराना आसान था।’
राहुल द्रविड़ ने टीम इंडिया के हेड कोच का कार्यभार संभाल लिया है। वह जयपुर में भारतीय टीम के साथ शामिल हो गए हैं। जयपुर में ‘मेन इन ब्लू’ को 17 नवंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैच की सीरीज का पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलना है। न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया को 2 टेस्ट मैच की सीरीज भी खेलनी है।

टेस्ट सीरीज की शुरुआत 25 नवंबर से कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में होने वाले पहले मैच से होगी। दूसरा टेस्ट मैच 3 से 7 दिसंबर के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला जाना है। न्यूजीलैंड सीरीज के बाद टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के लिए उड़ान भरेगी। वहां उसे तीन टेस्ट, 3 वनडे और 4 टी20 इंटरनेशनल मैच की सीरीज खेलनी है। उसका दक्षिण अफ्रीकी दौरा 26 जनवरी 2022 को पूरा होगा।

error: Content is protected !!