Breaking News
.

रियाज, गौस ने उदयपुर से अजमेर तक फैलाया था नफरत का नेटवर्क, बना रहे थे IS का स्लीपर सेल ….

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल तेली की हत्या करने वाले मोहम्मद रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद को लेकर नई-नई जानकारियां सामने आ रही है। पाकिस्तानी संगठन दावत-ए-इस्लामी से इनका लिंक तो पहले ही उजागर हो चुका था अब पता चला है कि मुख्य आरोपी रियाज अत्तारी का निकाह भी इसी सगंठन के लोगों ने करवाया था। वहीं, गौस और रियाज स्लीपर सेल का नेटवर्क तैयार करने में जुटे हुए थे। राजस्थान के कई जिलों में इन्होंने युवाओं के दिमाग में जहर भरने की कोशिश की।

रियाज 20 साल पहले घर छोड़कर उदयपुर आ गया था। यहां उसकी दोस्ती गौस मोहम्मद से हुई थी। दोनों ज्यादातर समय साथ ही रहते थे। इसी दौरान रियाज पाकिस्तान से ऑपरेट होने वाले ग्रुप दावत-ए-इस्लाम के संपर्क में आया। इसी ग्रुप ने उसकी शादी कराई। दावत-ए-इस्लाम के मौलाना ने रियाज का ब्रेनवॉश किया और ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान बुला लिया।

ट्रेनिंग के बाद रियाज ने गौस मोहम्मद को भी अपने साथ जोड़ लिया। गौस और रियाज दोनों उदयपुर, भीलवाड़ा, अजमेर, राजसमंद, टोंक, बूंदी, बांसवाड़ा, जोधपुर जिलों में गरीब और बेरोजगार युवाओं को उकसा कर स्लीपर सेल से जोड़ रहे थे। आशंका है कि ये स्लीपर सेल ISIS के लिए बनाए जा रहे थे और इसके लिए अरब देशों से फंडिंग भी की गई थी। इस बात से इसकी पुष्टि होती है कि 17 जून को जो वीडियो रियाज ने बनाया था, उसमें उसने शहर के हिस्ट्रीशीटर मुस्लिम युवाओं को उकसाने की कोशिश की थी।

दोनों दावत-ए-इस्लामी और पाकिस्तान के राजनीतिक दल तहरीक-ए-लब्बैक के संपर्क में थे। रियाज और गौस मोहम्मद फंडिंग के लिए 2014 और 2019 में सऊदी अरब और 2017-18 में नेपाल गए थे। सऊदी अरब में वे सलमान और अबू इब्राहिम के लगातार सम्पर्क में थे।

error: Content is protected !!