Breaking News
.

भारत में भी सामने आया दोहरे संक्रमण का मामला, असम की महिला डॉक्टर पर कोरोना का डबल अटैक …

गुवाहाटी।असम में एक महिला डॉक्टर एक ही समय में SAR CoV-2 यानी कोरोना वायरस के दो अलग-अलग रूपों से संक्रमित हुई है। यह संभवत: देश का पहला मामला है। डिब्रूगढ़ में ICMR के क्षेत्रीय चिकित्सा अनुसंधान केंद्र (RMRC) में परीक्षणों से इसका खुलासा हुआ है। पूरी तरह से टीका लगने के बावजूद डॉक्टर दूसरी खुराक के एक महीने बाद कोरोना वायरस के अल्फा और डेल्टा दोनों वेरिएंट से संक्रमित हो गई। हालांकि संक्रमण के हल्के लक्षण थे और बिना अस्पताल में भर्ती हुए वह ठीक भी हो गई।

आपको बता दें कि दुनिया भर में दोहरे संक्रमण के बहुत कम मामले सामने आए हैं। इससे पहले 90 वर्षीय बेल्जियम की महिला भी दोनों वेरिएंट से संक्रमित हुई थी।  इस साल मार्च में उसकी मृत्यु हो गई। इससे पहले भारत में ऐसा कोई मामला दर्ज नहीं किया गया था।

आरएमआरसी के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ बीजे बोरकाकोटी ने कहा, “दोहरा संक्रमण तब होता है जब दो वैरिएंट्स एक व्यक्ति को एक साथ या बहुत कम समय में संक्रमित करते हैं। यह तब होता है जब कोई व्यक्ति एक प्रकार से संक्रमित हो जाता है और एंटीबॉडी विकसित होने से पहले याल पहले संक्रमण के 2-3 दिनों के भीतर दूसरे प्रकार से संक्रमित हो जाता है।”

उन्होंने कहा, “हालांकि यूके, ब्राजील और पुर्तगाल से इस तरह के संक्रमण के कुछ मामले सामने आए हैं, लेकिन भारत से ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं आई है। डबल संक्रमण मुख्य रूप से महामारी के संक्रमण चरण के दौरान होता है जब एक प्रकार को दूसरे प्रकार से बदल दिया जाता है।” डॉ बोरकाकोटी ने कहा कि इस साल फरवरी-मार्च के आसपास असम में दूसरी लहर के शुरुआती चरण के दौरान, अधिकांश COVID19 मामले अल्फा संस्करण के कारण थे। फिर अप्रैल में विधानसभा चुनाव के बाद डेल्टा वैरिएंट संक्रमण के मामले सामने आने लगे।

error: Content is protected !!