Breaking News
.

गोवा चुनाव से पहले केजरीवाल ने लगाई वादों की झड़ी, स्थानीय को नौकरियों में 80% कोटा का वादा, सरकार परेशान …

नई दिल्ली। केजरीवाल ने सोमवार को गोवा के टैक्सी चालकों से मुलाकात कर लॉकडाउन और कोविड-19 महामारी के कारण पर्यटन क्षेत्र में आई मंदी की वजह से उनके प्रभावित होने पर चिंता व्यक्त की। गोवा के दो दिवसीय दौरे पर सोमवार को यहां पहुंचे केजरीवाल का हवाई अड्डे पर ‘आप’ के नेताओं ने जोरदार स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने वहां मौजूद टैक्सी चालकों से मुलाकात की और अपनी चिंताओं को साझा किया। टैक्सी चालकों ने केजरीवाल से कहा कि वे चिंतित हैं कि लॉकडाउन के कारण वे अपनी आर्थिक कठिनाइयों से बाहर नहीं निकल पाएंगे।

गोवा में अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले आम आदमी पार्टी (आप) के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को गोवा में रोजगार से संबंधित कई लोक-लुभावने वादे किए। केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी अगर सत्ता में आती है तो गोवा के हर घर में एक युवा को रोजगार देने की व्यवस्था करेगी। जब तक बेरोजगार युवाओं को नौकरी नहीं मिलती, उन्हें 3,000 रुपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। इसके साथ ही स्थानीय लोगों के लिए निजी क्षेत्र की नौकरियों में 80 प्रतिशत आरक्षण देने का वादा किया है।

केजरीवाल ने कहा कि युवाओं ने मुझसे कहा कि अगर कोई यहां सरकारी नौकरी चाहता है तो उसकी किसी मंत्री या विधायक से जान-पहचान होनी चाहिए। गोवा में बिना रिश्वत/सिफारिश के सरकारी नौकरी पाना संभव नहीं है। हम इस व्यवस्था को खत्म कर देंगे। गोवा के सभी युवाओं का यहां सरकारी नौकरियों पर अधिकार होगा। हम गोवा के हर घर में नौकरी लायक एक युवा को नौकरी देने की व्यवस्था करेंगे।

इसके अतिरिक्त, अरविंद केजरीवाल ने एक कानून लाने का वादा किया, जिसके अनुसार निजी क्षेत्र में 80 प्रतिशत नौकरियां गोवा के युवाओं के लिए आरक्षित होंगी। सरकारी नौकरियां पहले से ही स्थानीय लोगों के लिए आरक्षित हैं।

दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि गोवा के लोगों को डर है कि खनन की नीलामी के बाद बाहर के लोगों को यहां नौकरी मिल जाएगी। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि खनन में 80 फीसदी नौकरियां गोवा के लोगों के लिए आरक्षित हों।

चूंकि कोरोना महामारी और खदानों के बंद होने से पर्यटन और खनन उद्योगों को काफी नुकसान हुआ है, इसे देखते हुए अरविंद केजरीवाल ने इन व्यवसायों में लगे परिवारों के लिए भी 5,000 रुपये मासिक भत्ता देने का वादा किया है, जब तक कि उनकी स्थिति में सुधार नहीं हो जाता।

केजरीवाल ने कहा कि हम गोवा में एक स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी बनाएंगे, जहां 12वीं के बाद बच्चे अपना पसंदीदा कौशल सीख सकेंगे ताकि वे रोजगार के लायक बन सकें।

केजरीवाल ने भंडारी समाज के एक प्रतिनिधिमंडल सहित कई नेताओं से भी मुलाकात की। भंडारी समाज के नेताओं ने भी अपनी चिंताओं को साझा किया। उन्होंने बताया कि आर्थिक मंदी के कारण बड़ी संख्या में लोगों की नौकरियां चली गई हैं। इसके बाद वह रुद्रेश्वर मंदिर गए, वहां पूजा-अर्चना की और आरती भी की और वहां स्थानीय निवासियों से बातचीत की।

केजरीवाल ने कहा कि गोवा में बेरोजगारी चरम पर है। यहां युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है और राज्य में बेरोजगारी की दर उच्चतम स्तर पर है। उन्होंने आरोप लगाया कि केवल पैसे और पहुंच वालों को ही सरकारी नौकरियां मिल रही हैं।

गौरतलब है कि गोवा में 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं। ‘आप’ ने यहां से चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। गोवा विधानसभा चुनाव से पहले यह आम आदमी पार्टी का एक बड़ा कदम माना जा रहा है। गोवा में जड़ें जमाने के लिए 2017 में पहली बार विधानसभा चुनाव में उतरी ‘आप’ 57,420 अर्थात 6.27 प्रतिशत वोट मिले थे, सीट एक भी नहीं मिल सकी थी। गोवा में विधानसभा की 40 सीटें हैं।

error: Content is protected !!