Breaking News

केंद्रीय मंत्री गहलोत की बेटी योगिता का कोरोना से निधन, फेफेड़े 90 प्रतिशत तक हो चुके थे खराब …

इंदौर। थावर चंद गहलोत के एक करीबी ने बताया कि योगिता की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आई थी लेकिन उनके अंदर कोरोना के लक्षण दिख रहे थे। योगिता का जब सीटी स्कैन किया गया तो पता लगा कि उनके फेफेड़े 90 प्रतिशत तक खराब हो चुके हैं। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत की बेटी योगिता सोलंकी का सोमवार को हार्ट अटैक से निधन हो गया। वह कोरोना संक्रमित थीं और मध्य प्रदेश में इंदौर के मेदांता अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। केंद्रीय मंत्री के दफ्तर ने बताया कि करीब 15 दिन पहले वह कोरोना संक्रमित पाई गईं थीं।

केंद्रीय मंत्री के कार्यालय की ओर से जारी किए बयान के मुताबिक, ‘उनका निधन आज सुबह हार्ट अटैक की वजह से हुआ। डॉक्टरों के मुताबिक खून के थक्का बनने की वजह से पैरालिटिक अटैक आया।’

योगिता की उम्र 44 साल थी। पहले उन्हें उज्जैन के एक अस्पताल में ले जाया गया क्योंकि उनका परिवार वहीं रहता है। लेकिन योगिता की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें इंदौर शिफ्ट किया गया।

योगिता खुद एक हाउसवाइफ थीं। उनके पति स्वास्थ विभाग में काम करते हैं। योगिता की एक 23 साल की बेटी और एक 20 साल का बेटा है।  बीते शुक्रवार पीएम नरेंद्र मोदी की मंत्री परिषद के साथ की गई विशेष बैठक में हिस्सा लेने का बाद थावर चंद गहलोत भी उज्जैन चले गए थे।

Check Also

मराठा आरक्षण और उस पर सरकार की परेशानी …

मुंबई (संदीप सोनवलकर) । महाराष्ट्र की उध्दव ठाकरे सरकार इन दिनों मराठा आरक्षण के सवाल …

error: Content is protected !!