लखनऊ/उत्तरप्रदेश

मुलायम को भीष्म पितामह बता बोले बघेल- अखिलेश यादव के खिलाफ मेरी ही चाहते हैं जीत …

करहल। गुरुवार को एक तरफ जहां समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश के लिए प्रचार किया तो वहीं बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने एसपी सिंह बघेल के लिए समर्थन जुटाया। करहल में सियासी लड़ाई बेहद दिलचस्प हो चुकी है। इस बीच मुलायम सिंह यादव के पूर्व सहयोगी बघेल ने खुद को नेताजी का शिष्य बताया और कहा कि बेटे और शिष्य के बीच नेताजी शिष्य की जीत की कामना कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने महाभारत का भी उदाहरण दिया।

बघेल ने एक टीवी चैनल से कहा, ”शिष्य और पुत्र के बीच मुलायम जी आए हैं। यह परंपरा रही है कि द्रोणाचार्य और भीष्म पितामह कौरवों की तरफ से लड़े थे लेकिन वह अपने शिष्य अर्जुन की जीत का कामना कर रहे थे। इसी तरह नेताजी मेरी जीत चाहते हैं।” बघेल ने यह भी कहा कि अखिलेश हार रहे हैं, इसलिए अब उन्हें मुलायम सिंह की याद आई है। उन्होंने कहा, ”समाजवादी पार्टी के कैप्टन का जहाज डूब रहा है इसलिए अब उन्हें पूर्व कप्तान मुलायम सिंह की याद आई है, जिन्हें कभी हटाया था।”

गौरतलब है कि मोदी सरकार में मंत्री एसपी सिंह बघेल कभी मुलायम सिंह यादव के सुरक्षा अधिकारी रहे हैं। मुलायम सिंह यादव ने ही उन्हें पहली बार चुनाव लड़वाया था। बघेल खुद को मुलायम सिंह यादव का शिष्य बताते हैं। बीजेपी ने उन्हें सपा के गढ़ करहल में अखिलेश यादव के खिलाफ उतारा है।

 

Related Articles

Back to top button