राजस्थान

राजस्थान-दौसा में अधिकारियों की नाक के नीचे बिक रही आबादी भूमि

दौसा.

दौसा जिले में ब्लॉक के उच्च अधिकारियों की नाक के नीचे आबादी भूमि का विक्रय हो रहा है। इसमें स्थानीय कर्मचारी और सरपंच की भूमिका संदेह में नजर आ रही है। मामला लवाण ब्लॉक की ग्राम पंचायत बनियाना का है। दौसा जिले के बनियाना ग्राम पंचायत के सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी की मिलीभगत के चलते, राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज गैर मुमकिन आबादी भूमि को बेचने का मामला सामने आया है। इसके चलते ग्राम पंचायत की निजी आय को नुकसान हो रहा है।

उधर, लवाण तहसीलदार सोहनलाल मीणा ने कहा कि ये सारा मामला स्थानीय लोगों की मिलीभगत से प्रॉपर्टी डीलरों द्वारा आबादी भूमि पर प्लाटिंग की जा रही है और आम जनता के विकास कार्यों के लिए संचित की जाने वाली निजी आय का गबन किया जा रहा है। ग्राम पंचायत बनियाना में प्रॉपर्टी डीलरों और सरपंच और उसके नजदीकी लोगों की देखरेख में ग्राम पंचायत की आबादी भूमि पर 100-100 वर्गगज प्लॉट बनाकर बेचने का खाका तैयार कर बेचा जा रहा है। मौके पर सड़क निर्माण भी कर दिया गया है। सूत्रों की मानें तो 88 और 100 वर्ग गज प्लाट की कीमत लगभग 4000 से 5000 वर्ग गज के रेट से बेचने के भाव तय कर कुछ भूमि विक्रय करने की भी जानकारी है। साथ ही इस जमीन को खुर्द-बुर्द करने करने वालों में स्थानीय लोगों के अलावा सरकारी कर्मचारी के शामिल बताए जा रहे हैं।

तहसीलदार लवाण बोले
इस मामले की जानकारी मुझे सुबह हुई है। इसके बाद मैंने इस मामले की जानकारी के लिए नायब तहसीलदार को बोला है। नायब तहसीलदार ने पटवारी को जांच के लिए भेजा। पटवारी ने नायब तहसीलदार को बताया कि संबंधित आबादी भूमि, जिसका खसरा संख्या 1143 में गैर मुमकिन और वहां पर वर्तमान में प्लाटिंग की जा रही है। सरपंच और ग्राम विकास अधिकारी ग्राम पंचायत बनियाना की मिलीभगत से यह कार्य हो रहा है। इसमें कार्रवाई करने हेतु विकास अधिकारी लवाण तथा मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद दौसा अधिकृत हैं। मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद दौसा आपके माध्यम से ये मामला मेरे संज्ञान में आया है। अभी मैं इस मामले की विकास अधिकारी से जांच करवाता हूं।

Back to top button